farmer

मुख्यमंत्री के आदेशों को अधिकारी उड़ा रहे है खुलेआम धज्जियां

9
Saurav Saxena

सौरव सक्सेना

विदिशा। भावंतर योजना मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री के द्वारा किसानों को लाभ की योजना के रूप में परोसी गई थी। जिसमें किसानों को उसकी उपज का सही मूल्य प्राप्त हो रहा है। परंतु भावांतर योजना को लेकर भारतीय जनता पार्टी सरकार शुरू से ही विरोधियों के निशाने पर है।

गुरुवार को उज्जैन जिले की तराना मंडी में मंडी के उपाध्यक्ष नारायण सिंह गुर्जर एवं उनके साथियों द्वारा सचिन कुमार सिंह के साथ मारपीट की गई। दरअसल बताया जा रहा है कि मंडी के उपाध्यक्ष नारायण सिंह गुर्जर द्वारा सचिव से भावंतर योजना में कुछ किसानों के भुगतान के संबंध में जानकारी मांगी जा रही थी।

जानकारी देने में असमर्थता जताने पर मंडी सचिव के साथ मंडी उपाध्यक्ष एवं उसके साथियों द्वारा अभद्रता एवं मारपीट कर उसके कागजात फाड़ दिए गए जिसकी एफआईआर मंडी सचिव द्वारा करवा दी गई है।

जिसको लेकर आज मध्य प्रदेश की सभी मंडियों में मंडी के कर्मचारियों ने अपने बाजुओं पर काली पट्टी बांधकर कार्य किया। वह ऐसा कर कर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे एवं आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे।

हम चाहते है कि इस प्रकार की घटना की पुनरावृत्ति ना हो एवं आरोपियों को इस तरह की घटना कार्य करने पर गिरफ्तार कर कड़ी से कड़ी सजा दी जाए- “हरीराम सूर्यवंशी (मंडी कर्मचारी संघ, प्रांतीय उपाध्यक्ष)

किसानों के साथ मारपीट के मामला के बारे में मुझे पता चला है, में इसकी निष्पक्ष जांच करवाऊंगा, दोषियों को सज़ा मिलेगी- “सुधीर शिवहरे, सचिव मंडी गंजवासौदा)।