गुरु पूर्णिमा के पावन पर्व पर विद्यापीट के लोगों के लिए किया गया स्वास्थ्य शिविर व लंगर का आयोजन

guru
janmachnews.com
Share this news...

हरीश मोहिते की रिपोर्ट-

बिलासपुर। चम्पा जिले में अघोर विद्यापीठ अभेद आश्रम पोंडी दल्हा के नाम से सन 2008 से संचालित किया जा रहा है। इस आश्रम का मुख्य उद्देश्य सेवा भावना है।

शुक्रवार को गुरु पूर्णिमा के इस पावन पर्व में आश्रम में सुबह से बाबा के भक्त बाबा के दर्शन कर गुरु का आशिर्वाद लेने पहुंच रहे थे। शुक्रवार को गुरु पूर्णिमा के इस पावन अवसर पर आश्रम में निःशुल्क स्वास्थ्य शिविर लगा था। जिसमें लोग अपनी समस्याओं को लेकर डॉक्टर से परामर्श ले रहे थे। आश्रम में आने वाले भक्तों ले लंगर की व्यवस्था किया गया था।

गुरु पूर्णिमा के अवसर पर आश्रम में प्रवचन व देर शाम को संगीत प्रतियोगिता का आयोजन किया जाना था आश्रम में अपने गुरु से मिलने आस पास के लोगों के साथ ही लोकल नेता लोग भी पहुचे और बाबा से आशीर्वाद लिया।


इस आश्रम को संचालित करने वाले परम पूज्य अघोरेश्वर बाबा जी है। यह आश्रम लगभग 12-13 एकड़ में फैला है। आश्रम के द्वारा आय दिन धार्मिक कार्य जैसे गरीबो को कपड़ा बांटना स्वास्थ्य परीक्षण के लिए निःशुल्क शिविर आयोजित करना अनुभवी डॉक्टरों का ब्यवस्था कराया जाता रहा है।

साथ ही आश्रम में आस पास के गांव में रहने वाले बच्चों के लिए अंग्रेजी माध्यम का स्कूल भी चलाया जाता है। आश्रम में आय दिन कैम्प लगाकर हमेशा जनसेवा का कार्य सामाजिक गतिविधियों को लेकर पर्यावरण के प्रति लोगों को जागरूक किया जाता है। आश्रम में गोशाला छोटी छोटी फूलों की बगिया से आच्छादित है। आश्रम सूंदर से एक पर्वत जिसे लोग दल्हा पहाड़ के नाम से जानते है उसके समीप पर है।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।