BREAKING NEWS
Search
Janmanchnews

चिकित्सक ने किया मानवता को शर्मशार जन्म के साथ निकाल लियें मासुम के कई अंग

533
Share this news...

JMN Team

गोपालगंज। सेवा परमो धर्म लिखने वाले एक चिकित्सक ने मानवता को इस कदर शर्मशार किया कि अब तो ऐसे चिकित्सक से ईलाज कराने वाले लोगों के भी रूह कांप जायेंगे.

निठारी कांड को एक बार फिर तरो ताजा कर दिया गोपालगंज जिले के भोरे थाना क्षेत्र के लाला छापर में निजी क्लिनिक चला रहें एक झोला झाप चिकित्सक ने उसकी काली करतूत जानकार सारे लोग दंभ रह गये, चिकित्सक एम.एम.अंसारी भोरे थाना क्षेत्र के लाला छापर बाजार में अपना निजी क्लिनिक चलाता है.

बीते 20 जनवरी को उसी थाना के भोपतपुरा गांव निवासी सुशील राम की पुत्री प्रिया कुमारी जो अपने यूपी स्थित ससुराल देवरिया जिले के खामपार थाना क्षेत्र के परोहा गांव से प्रसव कराने आयी थी.

मैके वाले उसे लेकर डॉ.एम.एम.अंसारी के क्लिनिक चले गये क्लिनिक में बच्चा पैदा होने के लगभग एक घण्टे बाद उक्त चिकित्सक ने बच्चे को कफ़न में लपेटें एक दवा के कार्टुन में रख कर प्रसूति को यह कहते हुये दे दिया की बच्चा मर हुआ पैदा हुआ है,परिजन बच्चे को ले गये और जाकर दफना दिया, लेकिन कुछ दिनों बाद लेबर रूम में ही प्रसव के दौरान मौजूद रही शिवानी देवी ने जो राज खोला वह सुनकर लोगो रोंगटे खड़े हो गये।उसके बाद परिजनों ने यह शिकायत भोरे थाना में की कि पैदा लिए बच्चे के कई महत्वपूर्ण अंग निकाल लिये गये है, जिस शिकायत के बाद आज भोरे थाना द्वारा दूसरी बार बच्चे को कब्र से निकाला गया एक और निकालकर उसके फोटो करवाये गये थे वही आज उसे पोस्टमार्टम के लिये सदर अस्पताल भेजा गया है.परिजनों का आरोप है कि मेरा बच्चा जिंदा एवं स्वस्थ था,लेकिन चिकित्सक द्वारा उसकी किड्नी एवं कई महत्वपूर्ण अंग निकाल कर उसे मौत की नींद सुला दिया गया,शिवानी के कथना अनुसार बच्चे को एक इंजेक्शन देकर लेवर रूम में बेहोश किया गया फिर उसके अंग निकाल लिये गये.हलांकि कब्र से निकाले गये मासूम के शव पर भी छाती तथा पेट पर आपरेशन के निशान साफ दिख रहें है,बहरहाल जो भी अब तो पोस्टमार्टम के बाद ही दूध का दूध और पानी का पानी हो

Share this news...