पाकिस्तान में दिखाई जा सकती हैं रईस और काबिल

602

मनोरंजन  डेस्क।

पिछले साल उरी हमले और इसके बाद भारतीय सेना की ओर से पीओके में किए गए ‘सर्जिकल हमले’ के बाद दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया था. उरी हमले के दौरान भारत के कई फिल्म निर्माताओं ने पाकिस्तानी कलाकारों के काम करने पर रोक लगा दी थी.

पाकिस्तान के सिनेमा मालिकों ने सरकार से आग्रह किया था कि भारतीय फिल्मों को लेकर नरम रवैया अपनाया जाए जिसके बाद प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने इस मामले पर संबंधित पक्षों के साथ विचार-विमर्श के लिए एक समिति का गठन किया था. सूचना मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार सूचना राज्य मंत्री मरियम औरंगजेब और शरीफ के सलाहकार इरफान सिद्दीकी के नेतृत्व वाली समिति ने प्रधानमंत्री सचिवालय से आग्रह किया कि भारतीय फिल्मों पर लगी रोक हटाई जाए.