राजीव गांधी की हत्या पर हुआ बड़ा खुलासा, सीआईए ने 5 साल पहले ही दी थी जानकारी

248

दिल्ली डेस्क।

अमेरिका की खुफिया एजेंसी सीआईए ने पूर्व भारतीय प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या की आशंका पांच साल पहले ही जता दी थी। हाल में सार्वजनिक हुई सीआईए की रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ। राजीव गांधी की हत्या 21 मई-1991 को श्रीपेरंबुदुर में हुई थी जबकि सीआईए की रिपोर्ट मार्च-1986 में फाइल की गई थी।

रिपोर्ट में कहा गया है कि कार्यकाल के अंत में राजीव गांधी पर हमला हो सकता है जिसमें उनकी हत्या भी की जा सकती है। आशंका यह भी जताई गई कि वह अवसादग्रस्त होकर पद से इस्तीफा भी दे सकते हैं। रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि कश्मीरी मुस्लिम या सिख हमलावरों के हाथों हत्या के बाद देश में दंगा हो सकता है। हालांकि राजीव की हत्या तमिल उग्रवादियों ने की थी।

रिपोर्ट में बताया कि राजीव गांधी के बाद पीवी नरसिम्हा राव या वीपी सिंह उनके उत्तराधिकारी हो सकते हैं। 1991 में पीवी नरसिम्हा राव ने कांग्रेस सरकार की कमान संभाली थी।