अवैध बालू खनन मामले में कोइलवर से दियारे तक 10 घंटे की गयी छापेमारी, 48 लोग धराये, नौ नावें की गयीं जब्त - janmanchnews.com अवैध बालू खनन मामले में कोइलवर से दियारे तक 10 घंटे की गयी छापेमारी, 48 लोग धराये, नौ नावें की गयीं जब्त - janmanchnews.com

अवैध बालू खनन मामले में कोइलवर से दियारे तक 10 घंटे की गयी छापेमारी, 48 लोग धराये, नौ नावें की गयीं जब्त

93

आरा/कोइलवर: जिले में बालू के हो रहे अवैध खनन के खिलाफ जिले के नये एसपी विनय तिवारी ने रविवार को दल-बल के साथ सोन नदी के क्षेत्र में अभियान चलाया. एसडीपीओ सदर, मुख्यालय, सर्किल इंस्पेक्टर, रैफ, दंगा निरोधक दस्ता, आंसू गैस दस्ता, जिला पुलिस व आठ थानों की पुलिस के साथ रविवार की सुबह पांच बजे पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में टीम ने शाम तीन बजे तक छापेमारी की.

10 घंटे तक चली छापेमारी में पुलिस ने कोइलवर से लेकर सुदूर दियारा इलाके के सुरौधा, चंदपुरा, महादेवचक सेमरिया, मखदुमपुर, फुहा, कमालूचक महुइमहाल इलाके तक सोन के इलाके को खंगाल दिया.

सभी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज

पूरे दिन चले छापेमारी अभियान के दौरान 48 लोगों की गिरफ्तारी हुई और नौ नावों को जब्त िकया गया. िगरफ्तार सभी आरोपितों को पुलिस कोइलवर थाने लायी. वहां खनन निरीक्षक श्यामानंदन ठाकुर के बयान पर प्राथमिकी दर्ज की गयी है. कार्रवाई के बाद पकड़े गये मजदूरों को जेल भेज दिया गया. वहीं, जब्त नावों को नदी किनारे खड़ा कर क्षतिग्रस्त कर दिया गया.

दो स्टीमर व दो नावों पर सवार जवानों ने की छापेमारी

बालू के अवैध खनन के खिलाफ एसपी विनय तिवारी रविवार सुबह कोइलवर पहुंचे. डीएसपी मुख्यालय, एसडीपीओ सदर, कोइलवर के सर्किल इंस्पेक्टर समेत कोइलवर, बड़हरा, मुफस्सिल, चांदी संदेश, कृष्णागढ़, सिन्हा व धोबहा थाने की पुलिस एसपी के साथ थी.

वज्रवाहन, जिला पुलिस बल, सीआइएटी, स्टेट रैफ, दंगा निरोधक दस्ता, आंसू गैस दस्ता, महिला पुलिस समेत भारी भरकम पुलिस बल सोन नदी में उतरे थे. दो स्टीमरों व दो नावों पर सवार बड़ी संख्या में पुलिस बल ने करीब 10 घंटे तक छापेमारी कर अवैध खनन कर रहे नौ नावों और चार दर्जन मजदूरों को पकड़ा.

कार्रवाई के बाद शाम में फिर हजारों नावों ने सोन में किया प्रवेश

कार्रवाई के बाद एसपी के आरा लौटते ही शाम छह बजे से हजारों नावों ने फिर से गंगा नदी के रास्ते सोन में प्रवेश किया और कोइलवर पुल पार कर चांदी व संदेश इलाके की तरफ बढ़ गयीं. महज तीन घंटे पहले तक चली कार्रवाई के बाद भी अवैध खनन करनेवालों पर इसका खास असर पड़ता नहीं दिखा.




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *