BREAKING NEWS
Search
bijapur encounter

बीजापुर एनकाउंटर में अब तक 22 जवान शहीद, 9 नक्सली हुए ढेर

185
Share this news...

रायपुर: छत्तीसगढ़ से सुकमा-बीजापुर में हुए नक्सलियों के हमले में सुरक्षाबलों के 22 जवान शहीद हो गए हैं. इस एनकाउंटर में 9 नक्सली भी मारे गए हैं. बीजापुर जिले के एसपी कमलोचन कश्यप ने यह जानकारी दी है.

ऑपरेशन के लिए 2 हजार जवान निकले थे

छत्तीसगढ़ के नक्सल विरोधी अभियान के पुलिस उप महानिरीक्षक ओपी पाल ने बताया कि शुक्रवार रात बीजापुर के जंगल में नक्सलियों की मौजूदगी की सूचना थी. इसके बाद उसी  रात बीजापुर और सुकमा जिले से केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के कोबरा बटालियन, DRG और STF के संयुक्त दल को नक्सल विरोधी अभियान में रवाना किया गया था. इस टुकड़ी में करीब 2 हजार जवान शामिल थे.

उन्होंने बताया कि शनिवार दोपहर करीब 12 बजे बीजापुर-सुकमा जिले की सीमा पर जोनागुड़ा गांव के करीब सुरक्षाबलों की नक्सलियों से मुठभेड़ हो गई. सूत्रों के मुताबिक इस मुठभेड़ में नक्सलियों के PLGA समूह के लोग शामिल थे. यह मुठभेड़ करीब 3 घंटे से अधिक समय तक चली. इस घटना में शनिवार को कुल 5 जवानों की शहादत की जानकारी मिली थी, जो रविवार तक कुल 22 हो गई. इस घटना में 30 जवान भी घायल हो गए हैं. उन्होंने बताया कि इस मुठभेड़ में एक महिला नक्सली का शव बरामद किया गया है. मुठभेड़ में नक्सलियों को भी काफी नुकसान होने की खबर है.

राष्ट्रपति ने घटना पर जताई संवेदना

बीजापुर एनकाउंटर में 22 जवानों की शहादत पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने संवेदना जताई है. राष्ट्रपति ने ट्वीट करके कहा,’छत्तीसगढ़ में माओवादी विद्रोह से जूझते हुए सुरक्षाकर्मियों की हत्या गहरी पीड़ा का विषय है. शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी संवेदना. राष्ट्र उनके दर्द को साझा करता है और इस बलिदान को कभी नहीं भूलेगा.’

खुफिया एजेंसियों ने किया था अलर्ट

जानकारी के मुताबिक खुफिया एजेंसियों ने बीजापुर में नक्सलियों के मौजूद होने की सूचना दी थी. रिपोर्ट के मुताबिक नक्सली पिछले कुछ दिनों से लगातार बीजापुर, सुकमा, कांकेर में कैंप कर रहे थे. उनकी संख्या 200 से 300 बताई जा रही थी. यह भी पता चला था कि नक्सलियों के कई डिविजनल कमांडर छत्तीसगढ़ के बीजापुर में कैंप कर रहे हैं.

आईईडी प्लांट करने का बड़ा प्लान

खुफिया रिपोर्ट में बताया गया था कि नक्सली छत्तीसगढ़ के बीजापुर में आईईडी प्लांट करने का बड़ा प्लान कर रहे हैं. वे जंगलों में बनाए जा रहे सुरक्षा बलों के कैंपों को भी निशाना बना सकते हैं. ट्राई जंक्शन पर नक्सलियों के इकट्ठा होने की भी खबर सुरक्षाबलों को मिली थी. इन सब सूचनाओं के आधार पर सुरक्षाबलों ने शनिवार को नक्सलियों के खिलाफ बड़ा ऑपरेशन शुरू किया था. बीजापुर के जंगल में सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच जबरदस्त मुठभेड़ हो गई. इस मुठभेड़ के बाद 5 जवानों के शव शनिवार को बरामद किए गए थे, वहीं 17 जवानों के शव रविवार को जंगल से मिले.

गृह मंत्री ने किया नमन

गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने मृतकों के प्रति संवेदना जताते हुए घायल जवानों के जल्द स्वस्थ होने की कामना की है. शहीदों के परिवारों के प्रति संवेदना प्रकट करते हुए उन्होंने कहा, ‘छत्तीसगढ़ में नक्सलियों से लड़ते हुए शहीद हुए हमारे बहादुर सुरक्षाकर्मियों के बलिदान को नमन करता हूं. राष्ट्र उनकी वीरता को कभी नहीं भूलेगा. मेरी संवेदना उनके परिवारों के साथ है. हम शांति और प्रगति के इन दुश्मनों के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखेंगे.’

Share this news...