NTPC

ग्रामीणों के साथ हुआ धोखा, कागजों पर बन गया 27 लाख पंचायत

129
परविंदर राजपूत की रिपोर्ट-
आगरा। किसानों के खेतों में NTPC के टावर लगाए जाने पर एनटीपीसी की ओर से 17 गांव में फ्री बिजली देने और विकास कार्य कराने का वादा किया था। लेकिन कई सालों तक यह वादा पूरा नहीं हुआ। जब किसानों के आंदोलन को देखकर NTPC ने गांवों में विकास कार्य कराने ओर पंचायत भवन बनवाने के लिए हामी भरी तो NTPC और ग्रामीण अभियंत्रण विभाग ने इसमें भी खेल कर दिया।

NTPC की ओर से फंड दिए जाने पर ग्रामीण अभियंत्रण विभाग ने 12 गांव में पंचायत भवन के टेंडर भी निकाल दिए। लेकिन विभाग ने 11 गांव में तो पंचायत भवन बनवाये, लेकिन 12 वें गांव बिसेरी में पंचायत भवन कागजों पर बन गया। NTPC ने इसका भुगतान भी 27 लाख कर दिया।

गांव में पंचायत भवन कागजों पर बनने से ग्रामीणों में आक्रोश फैल गया। बिसेरी गांव में पंचायत हुई और ग्रामीणों ने NTPC और ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के खिलाफ मोर्चा खोलने की रणनीति तैयार कर ली है।

विभाग की इस कार्रवाई से ग्रामीण भी हैरान है। लोगों का कहना है कि उन्हें उम्मीद थी कि उनके गांव में पंचायत भवन बनेगा लेकिन विभाग ने इसमें खेल कर दिया जिसकी जानकारी जांच पड़ताल में हुई। अगर जांच न होती तो NTPC और संबंधित विभाग के खेल का पता नही चलता। विभाग ने अपने कागजों में भवन बना और प्रधान को हैंडओवर भी कर दिया गया। ग्रामीणों ने इसकी शिकायत सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ से करने की बात कही है।