BREAKING NEWS
Search
Bahadurgarh factory accident

बहादुरगढ़ में भीषण हादसा, तीन फैक्टरियों में लगी आग, तीन की मौत, 15 घायल, कई फंसे

108

New Delhi: शहर के आधुनिक औद्योगिक क्षेत्र में एक केमिकल फैक्टरी का बॉयलर फटने से भीषण आग लग गई। विस्फोट इतना जबरदस्त था कि फैक्टरी के टुकड़े उड़कर आधा किलोमीटर दूरी तक पहुंच गए। आग ने धीरे-धीरे एक के बाद एक तीन फैक्टरियों को अपनी चपेट में ले लिया। हादसे में तीन लोगों की मौत हो गई, जबकि 15 गंभीर रूप से घायल हो गए। सभी घायलों को अस्पताल पहुंचा दिया गया है। अभी मलबे में कई मजदूरों के दबे होने की आशंका है। मृतकों के शव बुरी तरह जले हैं, जिससेे अभी उनकी पहचान नहीं हो पा रही है। वहीं, घायलों में अधिकांश यूपी के रहने वाले हैं।

बताया जा रहा है कि बॉयलर फटने से आसपास की फैक्टरियों की दीवार भी गिर गई। फैक्टरी में कई श्रमिकों के फंसे होने की संभावना है। मौके पर फायर ब्रिगेड की टीम पहुंच चुकी है। राहत एवं बचाव कार्य जारी है। दो डेड बॉडी निकाली जा चुकी हैं। हादसे में दो फैक्टरियां पूरी तरह से ढह गई। हादसे में 50 से ज्यादा फैक्टरियों को नुकसान पहुंचा है।

ये हुए घायल

कांता देवी पत्नी नरेश 35 साल, उषा पत्नी अनिल 30 साल, विवेक पुत्र अमित तीन साल, नीलेश पुत्र अमित 9 साल, बिमला पत्नी बीरबल 70 साल, पूनम पत्नी सोनवीर 20 साल, अभिषेक पुत्र अमित, अंकित पुत्र नरेश 10 साल, कुलदीप पुत्र नरेश 8 साल, सविता पत्नी ओमबीर, पुष्पा पत्नी ब्रिजेश 31 साल, सरोज 18 साल, शांति 40 साल, मनोरमा, रिंकी पत्नी संजय। अधिकांश यूपी के रहने वाले हैं।

आग इतनी जबरदस्त है कि उसने पड़ोस की फैक्टरियों को भी अपनी चपेेेट में ले लिया है। मौके पर और दमकल गाड़ियों को भी बुलाया गया है। मलबा हटाने के लिए जेसीबी भी मौके पर हैैै। कई श्रमिकों को बचा लिया गया है। अभी भी कई के मलबे में दबे होने की आशंका है।

केमिकल फैक्टरी मालिक राजन जैन का अभी कोई पता नहीं है। मौके पर कुछ लोगों ने बताया कि वह हादसे से पहले फैक्टरी के ऊपरी हिस्से में बैठे थे। पूरी बिल्डिंग गिर गई निकल पाए या नहींं अभी इस बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता। अभी किसी से कोई संपर्क नहीं किया हैैै। घर पर जब बात की गई तो उन्होंने कहा कि फैक्टरी में हैं। मौके पर डीआईजी अशोक कुमार व डीसी जितेंद्र दहिया भी पहुंंच चुके हैं।

अस्पताल में पहुंची हिमाचल निवासी विमला देवी ने बताया कि वह ग्राउंड फ्लोर पर काम कर रही थी। जब वह काम कर रही थी तो अचानक ऐसा लगा जैसे भूकंप आया हो। वह अचानक जमीन पर जा गिरी, जिससे उसके सिर में चोट आ गई। कुछ देर बाद पता चला है कि पूरी फैक्टरी में भगदड़ मची हुई है। बाहर निकले तो पता चला कि बॉयलर फटा है और पूरा धुआं-धुआं हुआ है।

साथ लगती फैक्टरी में काम करने वाली कई महिलाएं भी जख्मी हुई हैं। इनमें यूपी के शहजानपुर के गांव मूल्य निवासी मनोरमा, शांति, पूनम, सरोजनी व भावना घायल हैं। चारों दहशत में हैं। उन्होंने बताया कि वह पास में अस्पताल के उपकरण बनाने वाली फैक्टरी में काम करती हैं। अचानक झटके के साथ फैक्टरी की टिन उन पर आ गिरी। उन्हें ऐसा लगा कि भूकंप आया है। वे उसके नीचे दब गई। हाहाकार मच गया। बड़ी मुश्किल से उन्हें निकाला गया। वह सिविल हॉस्पिटल उपचाराधीन हैं।

सिविल अस्तपाल में दाखिल 10 वर्षीय कुलदीप ने बताया कि वह अपने दोस्त अभी और नीलेश के साथ फैक्टरी की छत पर खेल रहा था। वह फैक्टरी की छत पर ही अपने माता-पिता के साथ रहते हैं। अचानक ऐसा लगा जैसे बिजली फट गई हो और भूकंप आ गया हो। वह एकदम से डर गया। इसी दौरान उसके सिर में आकर ईंट लगी और वह घायल होकर जमीन पर गिर गया। उसके बाद उसे नहीं पता क्या हुआ। वह उसे होश आया तब वह अस्पताल के बेड में था।

सिविल अस्पताल में दाखिल कांता ने बताया कि वह अपने पति नरेश के साथ है दाना बनाने की फैक्टरी में काम करती है। वह यूपी के रामपुर के गांव कल्याणपुर के रहने वाले हैं। फैक्टरी मालिक ने रहने के लिए वहीं छत पर ही कमरा दे रखा है। शुक्रवार को 2 बजे लंच करने के बाद काम करने के लिए गए थे। तीन बजे के आसपास अचानक ईंटें आकर सिर पर लगी। इसके बाद क्या हुआ पता ही नहीं चला।