Nitish and lalu

लालू प्रसाद के किताब में एक और दावा, एक डाल पर कभी स्थिर नहीं रह सकते नीतीश कुमार

241

पटना- इन दिनों लालू प्रसाद पर लिखी किताब में CM नीतीश कुमार के महागठबंधन में शामिल होने के दावे अब चर्चा का विषय बन चुका है. लालू प्रसाद पर लिखी इस किताब में CM नीतीश कुमार को लेकर कई दावे किये जा रहे है.

खबरों के मुताबिक इस किताब में CM नीतीश कुमार की तुलना ‘बंदर’ से किया गया है और उन्हें ‘कुर्सी कुमार’ बताया गया है. लालू प्रसाद के जीवन पर आधारित नलिन वर्मा द्वारा लिखी इस किताब में बताया गया है कि नीतीश कुमार से उनकी मुलाकात छात्र जीवन के दौरान हुई थी. उस दौरान लालू और नीतीश दोनों ही पॉलिटिकल एक्टिविस्ट थे.

साथ ही उस दौरान लालू प्रसाद छात्रों के बीच अपना मुख्य चेहरा स्थापित कर रहे थे, तब नीतीश कुमार भी छात्र राजनीति में जाने-माने चेहरे थे. आगे चल के फिर समाजवादी आंदोलन के दौरान लालू और नीतीश के बीच नजदीकियां बढ़ी.

इतना ही नहीं ख़बरों के मुताबिक लालू के इस किताब के चैप्टर-11 में नीतीश कुमार की तुलना ‘बंदर’ से करते हुए लिखा कि नीतीश कुमार कभी एक डाल पर कभी स्थिर नहीं रहते हैं.

बता दें,  लालू प्रसाद पर लिखी एक किताब ‘गोपालगंज टू रायसीना: माय पॉलिटिकल जर्नी’ लांच होने वाली है. इस किताब ने लालू प्रसाद के हवाले से कई बड़े दावे किये गये हैं.