भाजपा विधायक नें हरियाणवी डांसर सपना चौधरी का नाम लेकर सोनिया गांधी को कहा नाचने वाली

345

हिंदुत्व का झंडा लेकर बार-बार चुनावी मैदान में कूदने वाली और दूसरों को मर्यादा अमर्यादा, चाल-चरित्र का पाठ पढ़ाने वाली भारतीय जनता पार्टी के विधायक सुरेंद्र सिंह कई बार कर चुके हैं महिलाओं को लेकर घटिया बयानबाजी…

बलिया: उत्तरप्रदेश के बलिया से बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह ने एक बार फिर बेहद घटिया बयान दिया है। हरियाणवी डांसर सपना चौधरी के कांग्रेस जॉइन करने की ख़बरों पर सुरेंद्र सिंह ने सपना चौधरी की तुलना यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गाँधी से की है। सुरेंद्र सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी को सपना चौधरी को अपना बना लेने की नसीहत तक दी है। हालाँकि सपना चौधरी ने रविवार को एक प्रेस कॉन्फ़्रेंस करके कांग्रेस में शामिल होने से इनकार किया है।

सवाल यह उठता है कि महिलाओं को लेकर इतनी घटिया बयानबाज़ी करने वालों पर बीजेपी का नेतृत्व आख़िर कार्रवाई क्यों नहीं करता। ऐसा पहली बार नही हुआ है, महिलाओं के ख़िलाफ़ घटिया बयान देने वालों की बीजेपी में लंबी फ़ेहरिस्त है। हैरानी इस बात की है कि ख़ुद को चाल, चरित्र और चेहरे वाली और दूसरों से अलग बताने वाली बीजेपी इस पर चुप है। पहले सुनिए विधायक सुरेंद्र सिंह नें समाचार एजेंसी एएनआई से क्या कहा-

उत्तर प्रदेश के बलिया से बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह ने कहा, ‘राहुल जी भी अपनी कुल परंपरा को आगे बढ़ाएँ यह अच्छी बात है। उनकी माताजी (सोनिया गाँधी) भी इटली में इसी पेशे से थीं और आज फिर सपना को भी उन्होंने अपना बना लिया। मैं तो धन्यवाद दूँगा राहुल जी को कि जैसे आपके पिताजी (राजीव गाँधी) ने सोनिया जी को अपना बना लिया, आप भी भारत की राजनीति में सपना को अपना बनाकर राजनीति की नई पारी की शुरुआत करें।’

सुरेंद्र सिंह ने आगे कहा, ‘(राहुल गाँधी) इसके लिए आपको साधुवाद लेकिन भारत की जनता कभी भी नर्तकी को देश चलाने की इजाजत नहीं देती। देश नरेंद्र मोदी जैसे ईमानदार और चरित्रवान नेता के हाथों में होना चाहिए। नर्तकी के आने से भारतीय राजनीति पर कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है।

मुझे ख़ुशी है कि अब राहुल जी ने नेताओं पर भरोसा हटा लिया है और नर्तकी पर भरोसा करना चालू कर दिया है। सबसे अच्छा तो यह हो गया है अब सास और बहू दोनों ही एक ही कल्चर और एक ही पेशे से रहेंगी।

बीजेपी विधायक के इस घटिया बयान के सामने आने के बाद आपको बहुत ज़्यादा आश्चर्य नहीं होना चाहिए क्योंकि यह ‘माननीय’ विधायक कई बार महिलाओं को लेकर बेहद भद्दी टिप्पणियाँ कर चुके हैं। कुछ समय पहले सुरेंद्र सिंह ने कहा था कि राहुल गाँधी की बहन प्रियंका गाँधी सूपर्णखा हैं। सुरेंद्र सिंह ने पिछले साल बसपा सुप्रीमो मायावती की तुलना भैंस से कर दी थी।

उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री श्रीकांत शर्मा ने दो दिन पहले ही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी को कायर और नपुंसक बताया था। राजनीति में भाषा की मर्यादा का ख़्याल सबसे पहले रखा जाता है। लेकिन श्रीकांत शर्मा तो एकदम ओछी बयानबाज़ी पर उतर आए। किसी भी राजनीतिक दल के अध्यक्ष के ख़िलाफ़ इतना घटिया बयान देने के बाद भी बीजेपी नेतृत्व ने उनके ख़िलाफ़ कोई कार्रवाई नहीं की।

बीजेपी की विधायक साधना सिंह के बसपा सुप्रीमो मायावती को लेकर दिए गए बयान पर काफ़ी हंगामा हुआ था। साधना सिंह ने एक कार्यक्रम में कहा था, ‘मायावती किन्नर से भी ज़्यादा बदतर है, क्योंकि न तो वह नर है और न ही महिला।’ गेस्ट हाउस कांड का हवाला देते हुए साधना सिंह ने कहा था कि चीरहरण होने के बाद भी वह (मायावती) गठबंधन कर रही है। साधना सिंह यूपी के चंदौली जिले की मुगलसराय सीट से विधायक हैं।