BREAKING NEWS
Search
Suicide

जिले में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा हुआ नाकाम, दिन प्रतिदिन बेटियां कर रही है आत्महत्या

583
Mukesh Goshwami

मुकेश कुमार गोस्वामी

कोडरमा। प्रखंड अन्तर्गत नवलशाही थाना क्षेत्र के मसमोहना गांव में एक प्रेमी युगल के जहर खा लेने से प्रेमिका की मौत मौके पर ही हो गयी। जबकि, प्रेमी की स्थिति चिंताजनक बनी हुई है। मृतका की पहचान विभा कुमारी (15वर्ष), पिता सिकंदर सिंह के रूप में की गयी है। जबकि प्रेमी की पहचान पवन राम उर्फ पंजाबी पिता स्व. राजीव राम के रूप मे को गई है, बताया जा रहा था।

राजीव ट्रेकटर वाहन चालक था। दोनों मसमोहना गांव के स्थानीय निवासी थे। प्रेमी युगल रात में एक साथ घर से निकले थे और दोनो ने कीटनाशक दवा खा लिया। जिससे प्रेमिका की मौत मौके पर हो गयी। जबकि, प्रेमी पवन के परिजनों ने इलाज के लिए अस्पताल ले गए। घटनास्थल से कुछ दूरी पर कीटनाशक दवाई का डब्बा व लगभग आधा दर्जन केला पड़ा हुआ था।

मृतका के परिजनों के अनुसार विभाग रात में अपने मां के साथ सोई हुई थी। इसी दौरान विभा रात करीब साढ़े बारह बाजे घर के छत से साड़ी के सहारे निकल गयी थी। इसी बीच करीब एक बजे मां की नींद खुली तो, उसने विभा को गायब पाया उसने देखा की घर मुख्य द्वार अंदर से बंद है।

मां ने घर के अंदर व बाहर विभा की काफी खोजबीन की। उसके चाचा दिलीप सिंह तिलैया रेलवे स्टेशन भी खोज के लिए निकल पड़े। इसी दौरान विभा का शव घर से करीब आधा किलोमीटर दूर सिपाही बाद के एक सूनसान जगह पर होने की सूचना मिली, सूचना मिलने पर परिजन व ग्रामीण काफी संख्या मे घटनास्थल पर पंहुचे तो देखा की विभा का शव वहां पड़ा हुआ है।

जानकारों की माने तो प्रेमी युगल एक साथ विषपान किया था। जानकारी अनुसार विभा स्थानीय उत्क्रमित उच्च विद्यालय में नौवीं की छात्रा थी और उसकी शादी गिरिडीह के कादम्बरी मे परिजनों द्वारा तय किया गया था। जिससे प्रेमी युगल आहत हो कर आत्महत्या करने का फैसला ले लिया।

वहीं प्रेमी पवन का इलाज रांची रिम्स में कराया जा रहा है। घटना की जानकारी थाना प्रभारी मो.शाहिद रजा को दी गयी। जिसके बाद थाना के एएसआई देवव्रत सिंह व हेमलाल यादव घटनास्थल पर पंहुचे और शव को कब्जे मे लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

घटना के बाद से परिजनों का रों रों कर बुरा हाल है। मामले को लेकर थाना प्रभारी शाहिद रजा ने बताया की मामला प्रेमप्रसंग का है। मृतका की मौत प्रथम दृष्टि में विषपान से बताया पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही उसकी पुष्टि हो सकेगी।