BREAKING NEWS
Search
अवार्ड

बीएचयू के संगीत एवं मंच कला संकाय के प्रोफेसर को मिला अब्दुल कलाम लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड

355

वहीं बनारस घराने के बांसुरी वादक डॉ. अतुल शंकर को भारत गौरव रत्न सम्मान से नवाजा गया…

दयानंद तिवारी

दयानंद तिवारी

 

 

 

 

 

 

वाराणसी: बीएचयू के संगीत एवं मंच कला संकाय के प्रो. के शशि कुमार को डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड जबकि बनारस घराने के बांसुरी वादक डॉ. अतुल शंकर को भारत गौरव रत्न सम्मान से नवाजा गया है। यह अवार्ड सांस्कृतिक नगरी काशी के हिस्से में एक और उपलब्धि के रूप में देखी जा सकती है।
Janmanch

janmanchnews.com

इंटरनेशनल बिजनेस काउंसिल की ओर से बीते गुरुवार को नई दिल्ली में दोनों विभूतियों को यह सम्मान दिया गया। बीएचयू संगीत एवं मंच कला संकाय के गायन विभाग के हेड प्रो. के शशि कुमार बीते 25 साल से बीएचयू से जुड़े हैं।

मूलत: केरल के रहने वाले प्रो. के शशि कुमार कर्नाटिक शैली के गायक हैं। मद्रास यूनिवर्सिटी से उन्होंने बीम्यूज, एमम्यूज किया। पीएचडी उन्होंने बीएचयू से ही पूरी की। श्री पीजीवी रमनन से उन्होंने कर्नाटिक शैली का गायन सीखा।

विदेशों में उन्होंने कई प्रस्तुतियां दी हैं। कई मलयाली और तमिल फिल्मों में अपनी आवाज का जादू बिखेरा है। दूरदर्शन के लिए भी उन्होंने तीन नृत्य नाटिकाओं में अपनी आवाज दी है। उन्हें ये सम्मान गायन के क्षेत्र में उनके तीस साल के योगदान के लिए दिया गया।

भारत गौरव रत्न सम्मान से नवाजे गए डॉ. अतुल शंकर बनारस घराने के बांसुरी वादक हैं। जर्मनी, इटली, फ्रांस, लंदन, सिंगापुर समेत विदेश के कई शहरों में उन्होंने बांसुरी की तान छेड़ी।

उन्होंने वादन की शिक्षा अपने दादाजी पंडित राम खेलावत व नानाजी पंडित भोलानाथ प्रसन्नजी से ली। पिता पंडित रमा शंकर और मां रीता शंकर से भी उन्होंने संगीत की शिक्षा ली।

डॉ. प्रह्लाद नाथ के निर्देशन में उन्होंने बीएचयू से पीएचडी की। उन्हें यूपी गौरव, कला रत्न सम्मान से भी नवाजा जा चुका है। संकट मोचन महोत्सव, गंगा महोत्सव, गया महोत्सव, कबीरा फेस्टिवल में भी उनकी खास प्रस्तुतियां हुई हैं।