BREAKING NEWS
Search

बिहार में हुए उपद्रव के बाद अपनों के ही निशाने पर है मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

452
Pankaj Pandey

पंकज पाण्डेय

औरंगाबाद। रामनवमी के बाद सूबे के छह जिले में जो कुछ भी हुआ उसके बाद से विपक्ष की तो खैर छोड़ ही दीजिए, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपनों के भी निशाने पर है। ताजा हमला बिहार विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष और जदयू के दलित नेता उदय नारायण चौधरी ने किया है।उदय नारायण चौधरी ने कहा कि भाजपा राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की साजिश रच रही है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बेबस हैं। वे कुछ करने के बजाए चुप बैठे हैं।

मंगलवार को रामनवमी जुलूस के दौरान औरंगाबाद में हुए उपद्रव का हाल जानने पहुँचे उदय नारायण चौधरी ने भाजपा पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार पूरी तरह बेबस हो चुके हैं। वे कुछ करने की की बजाय चुपचाप बैठे हैं।चौधरी ने कहा कि बिहार के एक भाजपा नेता दिल्ली में मंत्री हैं और सूबे में दंगा करा रहे हैं। संविधान का शपथ लेने वाले ही इसका उल्लंघन कर रहे हैं। कहते हैं- एफआईआर को रद्दी टोकरी में फेंक देंगे।

उदय नारायण चौधरी ने कहा कि भाजपा राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की साजिश रच रही है। सोची समझी राजनीति के तहत दंगा भड़काया जा रहा है। उपद्रवियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं हो रही है। बेकसूर लोग गिरफ्तार कर जेल भेजे जा रहे हैं। भाजपा लोकसभा चुनाव से पहले सरकार को झटका देना चाहती है।उन्होंने दोषियों को गिरफ्तार करने और निर्दोष को रिहा करने की मांग की।

उन्होंने कहा कि अगर प्रशासन सख्त होती तो इतनी बड़ी घटना घटती ही नहीं। पुलिस के सामने दुकान जलाया गया। दुकानों पर धावा बोल उपद्रवियों ने लूट लिया। जिनके दुकान जले पुलिस ने उन्हें ही जेल भेज दिया।चौधरी ने लोगों से सहानुभूति जताते हुए कहा कि डरने की जरूरत नहीं है, मैं आपके साथ खड़ा हूं। देश में अकलियतों के साथ दलितों का गठबंधन हो रहा है।जिनके दुकान जले हैं, उन्हें मुआवजा के साथ सुरक्षा दी जाए।