CM Bihar

उनको जो खाना है खाएं, बस शराब न पीये: नीतीश कुमार

267

निशांत सुमन,

पटना: विगत कुछ दिनों से विभिन्न दलों के द्वारा सम्राट अशोक की जयंती मनाई जा रही है। मंगलवार को सम्राट अशोक कल्ब के द्वारा अशोक जयंती का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शामिल हुए। सभा को सम्बोधित करते हुए नीतीश कुमार ने कहा की चैत्र माह के अष्टमी को ही अशोक अष्टमी कहा जाता है, इसलिए यही सम्राट अशोक का जयंती है।

लेकिन कुछ लोगों को इस पर भी विवाद है। जिनको विवाद है वही कोई डेट फाइनल कर के बता दे हम उसी दिन जयंती मन लेगें। सम्राट अशोक के जयंती पर राजकीय अवकाश घोषित करने के दुसरे वर्ष आयोजित समाहरोह में नीतीश कुमार ने विपक्ष पर भी निशाना साधा।

Gallery with ID 1 doesn't exist.

उन्होंने कहा की ये वर्ष बहुत ही खास है, क्योंकी ये चंपारण सत्यग्रह का शताब्दी वर्ष है, गुरुगोविंद का 350 जंयती और अशोक जयंती का संयोग है। उन्होंने ने कहा कि सम्राट अशोक तब तक महान नही हुए जब तक वो अहिंसा को नही अपनाया।

शराबबंदी के एक साल पुरे होने पर उन्होनें कहा की आमलोगों ने इस फैसला को बहुत सहराया है। कुछ अमीर और तथा कथित पढ़े लिखे लोग इधर-उधर कर रहे हैं। उन लोगों से मैं इतना ही कहुंगा, उनको जो खाना है खाए, जो पीना है पिए बस शराब नही पीये।

प्रचीन काल का उदहारण देते हुए कहा की प्रचीन काल में भी राजकाज से जुड़े लोग भी गलत काम करते पाए गए है, तो ये कोई नयी बात नही है। हमारे यहाँ भी कुछ लोग इधर-उधर कर रहे हैं, लेकिन जिस दिन पकड़े गए उस दिन जेल भी जायेगें और नौकरी भी जायेगी।

सीएम नीतीश कुमार ने सम्राट अशोक कल्ब का तारीफ करते हुए कहा कि इस कल्ब का विचार अच्छा है, इसलिए संगठन की मजबूती पर ध्यान दे। आगे उन्होंने तंज करते हुए कहा कि यहाँ कुछ ऐसे भी संगठन है, जिनका विचार बहुत खराब है, लेकिन संगठन मजबूत है। मौलाना आजाद की तरह एक दिन पूरा भारत अशोक की जयंती मनायेगा।

नीतीश कुमार ने कहा कि मौलाना आजाद की जयंती 11 नवंबर को है। सर्व प्रथम बिहार सरकार ने इनके जयंती को शिक्षा दिवस के रूप में मनाना शुरू किया। एक साल बाद केंद सरकार ने पुरे देश में लागू कर दिया। ठीक इसी तरह अशोक जयंती भी पुरे भारत वर्ष में मान्य होगा।