BREAKING NEWS
Search
Kidnap

दिनदहाड़े महिला बैंक प्रबंधक का बदमाशों द्वारा अगवा, आगे गाड़ी से धक्का दे भागे बदमाश

268
Pankaj Pandey

पंकज पाण्डेय

पूर्वी चंपारण। बिहार में अपराधियों का बढ़ता मनोबल और घुटना टेकती पुलिस का नजारा फिर से दिखा। जब दिनदहाड़े पूर्वी चंपारण जिले के पीपरा स्थित सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की शाखा प्रबंधक का स्कॉर्पियो सवार तीन बदमाशों ने बुधवार को राष्ट्रीय उच्च पथ से अपहरण कर लिया। हालांकि उनके द्वारा शोर मचाने के बाद बदमाशों ने उन्हें पीपराचाप के पास गाड़ी से धक्का दे दिया और भाग निकले।

डरी-सहमी महिला शाखा प्रबंधक शिखा कुमारी ने पुलिस को फोन कर घटना की जानकारी दी। जानकारी मिलते ही पुलिस अधीक्षक उपेंद्र कुमार शर्मा स्वयं मौके पर पहुंचे और बैंक प्रबंधक से घटना के बारे में विस्तार से जानकारी ली। इस बीच चकिया डीएसपी मुंद्रिका प्रसाद व पीपरा थानाध्यक्ष संतोष कुमार को घटना की जांच करने को कहा गया है।पुलिस अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है।

मिली जानकारी के अनुसार शिखा मोतिहारी स्थित आवास से पीपरा ब्रांच के लिए स्कूटी से 10 बजे चली थीं। रास्ते में पीपरा न्यू चौक से पहले चाप टोला के सर्विस लेन में स्कॉर्पियो सवार बदमाशों ने उन्हें रोका और खुद को पुलिस अधिकारी बताते हुए उन्हें गाड़ी में बैठा लिया।

शिखा द्वारा शोर मचाने पर बदमाशों ने उन्हें गाड़ी से धक्का देकर चलते बने। स्थानीय पुलिस शाखा प्रबंधक को अपनी अभिरक्षा में पीपरा थाना लेकर आई। इसके बाद से लगातार कार्रवाई चल रही है। शिखा ने पुलिस को दिए आवेदन में कहा है कि जबरन गाड़ी में बैठाने के बाद जब मैंने पहचान पत्र मांगा एवं सवाल करने लगी तो बदमाश 10 लाख रुपये मांगने लगे। शोर करने लगी तो चाकू का भय दिखाया

बदमाश टोल गेट चकिया से पहले सीसीटीवी कैमरे के जद में आने के डर से गाड़ी को पीछे घुमाकर मोतिहारी की तरफ चलने लगे। पुन: जब मैं चीखने लगी तो गाड़ी से धक्का दे चलते रहे। इस घटना की वजह से बैंकिग कार्य पूरे दिन प्रभावित रहा। शाखा परिसर में ताले लटके रहे।

इस बाबत जिला पुलिस अधीक्षक उपेंद्र कुमार शर्मा ने बताया कि पीड़िता के आवेदन के आलोक में प्राथमिकी दर्ज की जा रही है। प्रारंभिक तौर पर मामले के कई पहलू सामने आए हैं। जांच पूरी होने के बाद ही स्थिति साफ होगी।