बिहार NSUI के अध्यक्ष चुन्नू सिंह का मैसेज हुआ वायरल, पैसे लेकर पद बांटने का लगा आरोप

730
Hariom Kumar

हरिओम कुमार की रिपोर्ट-

पटना- सोशल मीडिया पर एक खबर बड़ी तेजी से वायरल हो रही है. दरअसल, यह वायरल मैसेज एनएसयूआई को लेकर है. जिसमें एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष चुन्नू सिंह के द्वारा पैसे लेकर पद बांटने का आरोप लगाया लगाया जा रहा है.

viral 1

Janmanchnews.com

आपको बताते चले कि इस विषय को लेकर हमारे जनमंच न्यूज़ के संवाददाता ने कांग्रेस के आलाकमानों से बात करने के कोशिश में लगे है, मगर फिलहाल अभी तक संपर्क नहीं हो पाया है.

viral 2

Janmanchnews.com

वहीं इस वायरल मैसेज में NSUI के प्रदेश अध्यक्ष चुन्नू सिंह ने साफ तौर पर कह रहे है कि बिना पैसे के पद नहीं मिलता. वहीं इस व्हाट्सएप का वायरल मैसेज के मुताबीक पैसा प्रदेश प्रभारी से लेकर दिल्ली तक जाता है. दूसरी तरफ संगठन के कार्यकर्ता ने कहा कि तब तो संगठन में मेहनत का कोई मतलब नहीं है, जिस पर प्रदेश अध्यक्ष कहा तो क्या करें पैसा उपर तक देना पड़ता है।

viral 3

Janmanchnews.com

वहीं जैसे ही यह मैसेज सोशल मीडिया से पर तेजी से वायरल हुआ, उसके बाद NSUI के प्रदेश अध्यक्ष के विरोधियों ने इसे फेसबुक और ट्विटर पर पोस्ट कर दिया.

viral 4

Janmanchnews.com

वहीं फेसबुक यूजर अंकित कुमार ने फेसबुक पर इसे पोस्ट करते हुए लिखा है कि क्या आप राहुल गांधी के NSUI में बड़ा पद चाहते हैं ??

viral 5

Janmanchnews.com

उसके बाद अंकित ने आगे लिखा कि ‘जी हां, बम्पर आफर, पैसा दीजिये पद लीजिये. बिहार NSUI के प्रदेश अध्यक्ष चुन्नू सिंह के अनुसार यहां इस छात्र संगठन में संघर्ष नहीं पैसा मायने रखता है. और ये पैसा का बंदरबांट शीर्ष नेतृत्व तक होता है, जिसमें प्रभारी तक शामिल होती हैं. छात्रों के हित को लेकर बड़ी-बड़ी बात करने वाले राहुल गांधी के छात्र संगठन में पैसा ही सर्वव्यापी है.
अब आप छात्र बंधु निर्णय लीजिये??

chunnu singh and madan mohan jha

Janmanchnews.com

वहीं इस खबर के वायरल होने के बाद बिहार एनएसयूआई में खलबली मच गई है. अब कई तरह के सवाल भी उठने भी लगे है. इस विषय को लेकर एनएसयूआई के कुछ कार्यकर्ताओं ने कहा कि पद का सृजन होने के पश्चात कभी भी पैसे नहीं लिए गए तो कुछ कार्यकर्ताओं ने बताया कि बिहार एनएसयूआई में आजकल दलालों ने संगठन को पॉकेट का संगठन बनाकर रख दिया है। पार्टी में कोई प्रोटोकॉल नहीं है।

सुने यह ऑडियो:-