BREAKING NEWS
Search
alliance poster

लालू की ‘भाजपा भगाओ, देश बचाओ’ रैली में नहीं आएगीं सोनिया, माया

540

लालू बोले बाढ़ का पानी उतरने के बाद हवाखोरी करने आ रहे है पीएम मोदी….

जावेद अंसारी,

पटना। लालू प्रसाद यादव की आगामी 27 अगस्त रविवार को पटना के गांधी मैदान में राज्य में बाढ़ के बावजूद ‘भाजपा भगाओ देश बचाओ रैली’ प्रस्तावित है, जिसे लालू हर हाल में पूरा करना चाहते हैं। इस रैली में कई पार्टियों के नेता जिसमें पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भाग लेंगे।

बीएसपी अध्यक्ष मायावती तो भाग नहीं लेंगी लेकिन उनकी पार्टी की तरफ से सतीश मिश्रा रैली में आ सकते हैं। खुद लालू प्रसाद यादव ने बुधवार को स्वीकार किया कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और मायवती इस रैली में नहीं आएंगी। राबड़ी देवी के आवास पर पत्रकारों से बातचीत में लालू ने बताया कि मैंने मायावती जी से बात की। वह अपने प्रतिनिधि के तौर पर सतीश चंद्र मिश्र को भेजेंगी।

alliance poster

Janmanchnews.com

वहीं, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी सीनियर लीडर गुलाम नबी आजाद और बिहार के कांग्रेस प्रभारी और महासचिव सीपी जोशी को रैली में भेजेंगी। यही नहीं लालू ने दावा किया कि राज्यसभा सांसद और जेडीयू के बागी शरद यादव भी इस रैली में समर्थकों समेत उपस्थिति दर्ज कराएंगे।

हालांकि बिहार के कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चौधरी का कहना है कि फिलहाल पार्टी की तरफ से यह सूचना नहीं आई है कि आखिर कौन-कौन इस रैली में भाग लेने के लिए आएगा। अगले एक-दो दिनों में स्थिति साफ होने की संभावना जताई जा रही है।

लालू प्रसाद यादव ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि आखिर वह रैली से ठीक एक दिन पहले ही 26 अगस्त को हवाई सर्वे करने के लिए क्यों आ रहे हैं। लालू ने कहा, वह तब क्यों आ रहे हैं, जब बाढ़ का पानी कम होने लगा है, और जलस्तर लगातार कम हो रहा है। पीएम के प्रस्तावित दौरे को हवाखोरी करार देते हुए लालू ने कहा, पीएम नरेंद्र मोदी उस वक्त कहां थे, जब बाढ़ के चलते अकेले बिहार में ही 400 लोगों की मौत हो गई। लाखों लोगों को हाई-वे पर शरण लेनी पड़ी और कई तटबंध तबाह हो गए।

ये भी पढ़ें…

26 अगस्त को बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में हवाई सर्वे करेंगे पीएम मोदी

सूबे के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी की ओर से बाढ़ के चलते रैली को टालने की अपील पर लालू सुशील मोदी पर भी निशाना साधते हुये बोले कि मुझे सीख नहीं देनी चाहिए। क्या रैली को स्थगित करने से बिहार में बाढ़ समाप्त हो जाएगी। उन्होंने कहा कि सुशील मोदी को यह बताना चाहिए कैसे नदियों के तटबंध टूट गए। जबकि प्रदेश सरकार ने इनकी मरम्मत पर 600 करोड़ रुपये से अधिक की राशि खर्च की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करें।