BREAKING NEWS
Search
Murder

हत्या के बाद रणक्षेत्र में तब्दील हो गया सहरसा, पुलिस और लोगों के बीच हुई हाथापाई

566
Sarfaraz Alam

सरफराज आलम

सहरसा। पटुआहा के समीप अधेड़ किसान की गोली मारकर की गई हत्या के बाद सहरसा सदर अस्पताल परिसर कई घंटे तक रण क्षेत्र में तब्दील रहा। मृतक के आक्रोशित परिजनों और ग्रामीणों ने सदर थाना पुलिस की शिथिलता को लेकर हंगामा मचाया और पुलिसकर्मियों से हाथापाई तक पर उतर आए।

ज्ञात हो कि सौर बाजार के सपहा निवासी संजय कुमार साह अपने पुत्र नीतीश कुमार को जानकी एक्सप्रेस ट्रेन में चढ़ाकर बाइक से गांव वापस लौट रहे थे तभी रास्ते में पटुआहा के समीप बदमाशों ने उनकी गोली मारकर हत्या कर दी। अहले सुबह पटुआहा छड़ फैक्टरी के पास शव के पड़े होने की जानकारी ग्रामीणों ने सदर थाना को दी। घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने शव को टेंम्पो पर लादकर अस्पताल लाया। हत्या की जानकारी मृतक के परिजनों को भी दी गई थी।

जब सदर एसडीपीओ प्रभाकर तिवारी अस्पताल पहुंचे और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजे जाने की कोशिश होने लगी। तब लोगों का आक्रोश फूट पड़ा। पोस्टमार्टम कराने से इंकार करते परिजन शव को लेकर जाने लगे। पुलिस द्वारा टेंम्पो को रोके जाने पर परिजन शव को निकाल पैदल ही अस्पताल से बाहर ले जाने लगे। मामले की गंभीरता को देखते हुए एसडीपीओ के सुरक्षाकर्मियों व अन्य पुलिसकर्मियों ने लोगों को रोकने की कोशिश की इस दौरान जमकर हंगामा हुआ इस क्रम में परिजन व पुलिसकर्मियों के बीच जमकर झड़प हुई।

अस्पताल परिसर से परिजन शव को लेकर तेजी से आगे बढ़ने लगे और पीछे-पीछे पुलिस भी उन्हें रोकने का प्रयास कर रही थी। इस दौरान एसडीपीओ के बॉडीगार्ड राकेश कुमार व अन्य पुलिसकर्मियों को गुस्सा का सामना करना पड़ा और परिजनों के साथ उनकी हाथापाई भी हुई। परिजन शव को एएनएस स्कूल समीप कबीर चौक पर बीच सड़क पर रखकर बैठे रहें।

लोगों का कहना था कि घटना-दर-घटना होने के बाद भी पुलिस की सुस्त रवैया कायम है । इससे बदमाशों का हौसला बढ़ता जा रहा है। बारिश समाप्त होने के बाद दोबारा सदर एसडीपीओ ने लोगों को समझा-बुझाकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

इधर हंगामे की जानकारी मिलते ही भारी संख्या में पुलिस बल और  वाहन की तैनाती कर दी गई थी। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजने के बाद प्रशासन ने राहत की सांस ली। सदर एसडीपीओ ने बताया कि मृतक की किसी से कोई दुश्मनी की बात अब तक सामने नहीं आई है। घटना के कुछ देर बाद सरवा ढाला के समीप पुलिस को देख तीन बदमाश बाइक व पिस्टल छोड़ भाग गए। बरामद पिस्टल की जांच कराई जा रही है।