kidnap

हथियारबंद दर्जनों बदमाशों ने घर पर धावा बोल किशोरी को किया अगवा

355

पंकज पाण्डेय,

समस्तीपुर:  जिले में पुलिस और अपराधियों के बीच रस्साकस्सी का खेल जारी है। एसपी दीपक रंजन जहां एक ओर जिले को अपराध मुक्त करने जी जीतोड़ कोशिश में लगे हैं।

वहीं अपराधी पुलिस प्रशासन को चुनौती देते दिख रहे है। इसी कड़ी में रविवार की रात करीब ग्यारह बजे छह बाईक पर हथियार से लैश दर्जन भर अपराधी ताजपुर थाना क्षेत्र के एक गांव में आए और एक किसान के घर पर धावा बोलते हुए उनकी किशोरी पुत्री को अगवा कर लिया।

अपने कमरे में सोई इंटर में पढ़ने वाली सत्रह वर्षीय छात्रा को अगवा करने आए अपराधियों ने परिजनों द्वारा विरोध करने पर उनके साथ मारपीट भी की। पिस्तौल व बन्दूक की बट से प्रहार किए जाने से किशोरी के पिता और भाई जख्मी हो गए। किशोरी के विरोध करने व चिल्लाने की के शोर सुन ग्रामीणों को आते देख बदमाश किशोरी को लेकर भाग गए। ग्रामीणों ने खदेड़ कर दो बदमाशों को धर दबोचा।

इस दौरान गश्तीदल भी सूचना मिलने पर वहाँ पहुँच गई। ग्रामीणों ने पकड़े गए बदमाश को गश्ती दल के हवाले कर दिया।पुलिस उनके पास से एक लोडेड परानी बन्दूक के साथ दो अपाची बाईक जब्त की है। लड़की की माँ ने अपहर्ताओं के द्वारा लड़की को जान से मार देने या बेच देने का आरोप लगाते हुए थाना में एफआईआर दर्ज करवाई है।

इस मौके पर ग्रामीणों द्वारा खदेड़ कर पकड़े गए दोनों बदमाशों जितवारपुर इंद्रवारा के सनोज सहनी और अंचल सहनी को नामजद करते हुए अपराधियों से पुत्री को मुक्त करवाने की गुहार लगाई है।

दूसरी ओर सोमवार की सुबह घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने गाँधी चौक के पास जाम करते हुए नेशनल हाइवे पर आवागमन ठप कर पुलिस के विरोध में नारेबाजी किया।

इस दौरान हाइवे पर वाहनों की लंबी कतार लग गई। लगभग चार घण्टे से ऊपर लगी जाम एएसपी आमिर जावेद, मुफस्सिल इंस्पेक्टर सुबोध चौधरी के साथ ही थानाध्यक्ष सुनेश्वर प्रसाद के किशोरी की बरामदगी के साथ अपराधियों की शीध्र गिरफ्तारी कर लेने के भरोसा दिलाने के बाद खत्म हुई।