Bihar Police

बेटे के हत्या के आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने से निराश माँ ने वरीय पुलिस पदाधिकारियों से मांगी इंसाफ

146
Santosh Raj

संतोष राज

समस्तीपुर (हसनपुर)। दो माह पूर्व हुए अपने बेटे की हत्या के बाद नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने से निराश हसनपुर थाना क्षेत्र के देवधा गांव निवासी तारा देवी जिले से लेकर राज्य तक के वरीय पुलिस पदाधिकारियों को आवेदन देकर इंसाफ की गुहार लगाई है।

ज्ञात हो कि दो माह पूर्व 25 सितम्बर 2017 को बेगूसराय जिला के रजौरा बहियार गांव में मकई के डंठल और पत्तों के बीच एक मृत युवक का शव मिला था जिसकी पहचान देवधा के सतीश कुमार सहनी के रूप में हुई थी। जनमंच न्यूज़ ने भी इस खबर को प्रकाशित किया था। 

शव मिलने के बाद मृतक सतीश सहनी की माँ तारा देवी ने बेगूसराय मुसफ्फिल थाना में गांव के ही कुछ लोगों को नामजद करते हुए कांड संख्या 443/17  के तहत धारा 201,302 और 34 के तहत मुकदमा दर्ज करवाई। लेकिन अभी तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर तारा देवी पुलिस अधीक्षक, समस्तीपुर और बेगूसराय, पुलिस उप महानिरीक्षक भागलपुर और मुंगेर के साथ ही आरक्षी महानिदेशक, पटना को आवेदन देते हुए इंसाफ की मांग की है।

क्या है मामला

मृतक की माँ के द्वारा पुलिस अधिकारियों को  दिए गए आवेदन के अनुसार सतीश सहनी  अपने भाई अनिल सहनी के साथ मिलकर देवधा गोदाम चौक पर किराना व फूल का दुकान करता था। आरोपियों के यहां दुकान का बकाया 1500 रुपया  मांगना उन्हें बुरा लगा और  इसी बात से नाराज आरोपियों ने सतीश सहनी के भाई अनिल कुमार सहनी को बांध कर लाठी- डंडे से पिटाई कर दी।

इसके बाद अनिल सहनी के हाथ में एक देशी पिस्तौल थमाकर हसनपुर थाना को फोनकर उसे गिरफ्तार करवा दिया। इसका विरोध जब सतीश ने किया तो उसकी हत्या कर दी।

मृतक सतीश कुमार सहनी की माँ तारा देवी कहती है। इन सभी आरोपियों का देवधा गांव में अपना शासन चलता है। ये सभी जमींदार परिवार से है इनके खिलाफ कोई पिछड़ा वर्ग और कमजोर व्यक्ति आवाज नही उठाता है।