बुलंदशहर

बुलंदशहर में गोकशी को लेकर बवाल, पुलिस इंस्पेक्टर की गोली मारकर हत्या, एक युवक की भी मौत

414

गोकशी होने के शक में भीड़ नें लगाया जाम, पुलिस जाम छुड़ाने गई तो पुलिस पर पथराव व फायरिंग जिसमें पुलिस इंस्पेक्टर की मौत, मौके पर आलाधिकारी मौजूद…

Shabab Khan

शबाब ख़ान (वरिष्ठ पत्रकार)

 

 

 

 

 

 

बुलंदशहर: उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले में गोकशी के आरोपों के बाद भड़की हिंसा में एक पुलिस इंस्पेक्टर और एक आम नागरिक की मौत हो गई। उपद्रवियों ने एक पुलिस चौकी फूंक दी और दर्जनों वाहन जला दिए। यह सब ऐसे वक्त हुआ जब शहर में एक धार्मिक आयोजन में करीब 10 लाख मुसलमान मौजूद हैं।

भीड़ से घिरे हुए इंस्पेक्टर के चारों तरफ गोलियों की आवाजें आती रहीं। गोकशी के आरोपों में एक घंटे तक चली हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह अपना फ़र्ज़ निभाते हुए मारे गए। हिंसक भीड़ ने पुलिस चौकी जला दी और पुलिस पर पथराव किया। गोकशी के इल्ज़मों से वे भड़के हुए थे। पुलिस ने 400 अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

इंस्पेक्टर सुबोध सिंह के चारों तरफ यूं तो 11 राउंड फायर की आवाज़ें आईं लेकिन पहले पुलिस का कहना था कि उनकी मौत सिर में पत्थर लगने से हुई, हालांकि सुबोध सिंह के पोस्टमार्टम के बाद यह बात स्पष्ट हो गई उनकी भौं के ऊपर .32 बोर की पिस्टल से फायर करके उनको मौत के घाट उतारा गया था। हिंसा में एक स्थानीय नौजवान भी मारा गया। कहते हैं कि उसे पुलिस राइफल की गोली लगी है।

सुबोध सिंह

Inspector Subodh Singh who sacrificed his life in an effort to calm public anger…

गोकाशी और उसके बाद में हुई हिंसा दोनों की जांच के लिए एसआईटी का गठन कर दिया गया है। इलाके में हिंसा के बाद तनाव है। किसी अनहोनी से निपटने के लिए मौके पर बड़े पैमाने पर फोर्स तैनात कर दी गई है। एडीजी लॉ एंड ऑर्डर ने बताया कि घटना की जांच की जा रही है।

मिली जानकारी के मुताबिक बुलंदशहर के सयाना थाना क्षेत्र में भीड़ ने पथराव किया। हिंसा सोमवार की सुबह तब शुरू हुई जब गांव में 25 पशुओं के शव मिले। लोगों का आरोप है कि ये गांव के ही दूसरे समुदाय के लोगों ने गोकशी की है। इसके बाद वहां तनाव को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई।

हालात तब बेकाबू हो गए जब भीड़ ने पुलिसवालों पर पथराव शुरू कर दिया  पुलिस चौकी को आग लगा दी और गाड़ियों में आगजनी की। वहीं एक वीडियो फुटेज की भी बात सामने आ रही है जो हिंसा का कारण हो सकता है। इस वीडियो के बारे में भी पुलिस जांच कर रही है। एडीजी ने बताया कि घटना की जांच के लिए एसआईटी करेगी।

खबरों के मुताबिक पुलिस ने हवा में फ़ायरिंग की और लाठीचार्ज भी किया लेकिन हालात काबू में नहीं आए। इलाके में अतिरिक्‍त सुरक्षाबल भेजा गया है। पुलिस के दो आला अधिकारी एडीजीपी प्रशांत कुमार और आईजी राम कुमार भी घटनास्‍थल के लिए रवाना हो गए हैं। पुलिस ने बताया कि वो तनाव कम करने के लिए उस इलाके से वाहनों को दूर रखने की कोशिश कर रहे हैं।

बुलंदशहर

Furious mob burnt nearby Police Post, several four wheelers and other Public Properties….

गौरतलब है कि इससे पहले भी गोकशी के विवाद में कई बार हिंसाएं हो चुकी हैं। नोएडा के दादरी से शुरू हुई ऐसी घटनाएं राजस्थान के अलवर, गुजरात और कई राज्यों में हो चुकी हैं। फिलहाल बुलंदशहर में तनाव बना हुआ है और इलाके में बड़ी संख्या में पुलिसबल तैनात कर दिया गया है।

घटनाक्रम मिनट दर मिनट

-रविवार रात स्याना के चिंगरावटी चौकी क्षेत्र के गांव महाव में गोकशी की सूचना

-सोमवार सुबह करीब 8 बजे पुलिस अधिकारियों को एकत्र ग्रामीणों ने गोकशी की सूचना दी

– सुबह करीब साढ़े 8 बजे स्याना कोतवाली से पुलिसकर्मी एवं चौकी प्रभारी मौके पर पहुंचे

– सुबह करीब 10 बजे पुलिस ने गोवंशीय पशुओं के अवशेषों को कब्जे में लेना चाहा, ग्रामीणों का विरोध शुरू

– सुबह करीब 11 बजे हिन्दुवादी संगठनों के कार्यकर्ता मौके पर पहुंचे, अवशेषों को ट्राली में रखकर जाम लगाया

– दोपहर करीब 11 बजे पुलिस ने ग्रामीणों को समझाकर जाम खुलवाने का प्रयास किया।

– दोपहर करीब 11:30 बजे एसडीएम और सीओ भी मौके पर पहुंचे। लोगों को समझाने का प्रयास।

– दोपहर करीब 12:30 बजे पुलिस बल के सख्ती करने पर भड़के लोग, पुलिस पर पथराव शुरू किया

– दोपहर करीब 12:45 बजे पथराव होते ही कोतवाल को छोड़ भागे हमराह एवं अन्य पुलिस बल

– दोपहर करीब 1:15 बजे अस्पताल में कोतवाल सुबोध कुमार को मृत घोषित किया गया

– दोपहर करीब 2 बजे डीएम और एसएसपी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। लोगों को समझाकर जाम खुलवाया

– दोपहर करीब 2:30 बजे आईजी मेरठ जोन भी स्याना पहुंचे। घटनास्थल का निरीक्षण किया।

– दोपहर करीब 3 बजे घायल युवक सुमित की भी मौत की सूचना। ग्रामीणों में रोष का माहौल।

– दोपहर करीब साढ़े 3 बजे एडीजी प्रशांत कुमार भी स्याना पहुंचे। पुलिस अधिकारियों को किया निर्देशित

– दोपहर करीब साढ़े 4 बजे मृतक कोतवाल का शव जिला अस्पताल स्थित पोस्टमार्टम हाउस लाया गया।

– शाम करीब 6 बजे मेरठ कमिश्नर अनीता सी मेश्राम ने घटनास्थल का किया दौरा।

इंस्पेक्टर की मौत गोली लगने से, पोस्ट मार्टम से हुई पुष्टि

बुलंदशहर में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की मौत गोली लगने से हुई। पोस्ट मार्टम रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है। पोस्ट मार्टम रिपोर्ट के अनुसार सुबोध सिंह को बांयी आंख की भौं के पास गोली लगी। यह  गोली .32 की थी। उपद्रवी सुबोध कुमार सिंह की सरकारी पिस्टल भी लूटकर ले गए।

shabab@janmanchnews.com