BREAKING NEWS
Search
Mukesh Ambani

शिक्षक बनना चाहते हैं मुकेश अंबानी

355
Shabab Khan

शबाब ख़ान

मुंबई: पहले भारत और फिर एशिया, फिर विश्वनाथ भर में अपनी साख़ बनाने के बाद मुकेश अंबानी शिक्षक बनने के लिए बेकरार हैं। रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष नें कहा कि आने वाले दिनों में वह अपनी पत्नी नीता अंबानी के साथ शिक्षा के क्षेत्र में शामिल होंगे।

यहां इंडिया टुडे कॉनक्लेव में उन्होंने कहा, ‘जब तक मेरे पिता मुझे रिलायंस में लेकर नहीं आए, तब तक मैं आश्वस्त था कि मुझे अमेरिकी विश्वविद्यालय में पढ़ाई करनी है। मैं या तो विश्व बैंक के लिए काम करना चाहता था या एक प्रोफेसर के रूप में छात्रों को पढ़ानें की मेरी इच्छा थी।’

उन्होंने आगे कहा, ‘ऐसा इसलिए, क्योंकि मेरी पत्नी एक टीचर हैं। अब वह मुझे कह रही हैं कि मेरे लिए सही समय है कि मैं शिक्षण से जुड़ जाऊं। यह ऐसा है, जिसे मैं किसी और चीज की अपेक्षा अपनी संतुष्टि के लिए करना चाहता हूं।’

अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप की संरक्षणवादी नीतियो का हवाला देते हुए मुकेश अंबानी ने कहा कि यह सबसे उचित समय है जब हमारे कुशल प्रतिभाशाली लोगों को विदेश से लौटकर मातृभूमि की सेवा करनी चाहिए।

अंबानी ने कहा, ‘यह सबसे बेहतर समय है कि जब हमारी बेहतर प्रतिभाओं को लौटकर भारत और भारतीयों के फायदे के लिए काम करना चाहिए।’

अंबानी से जब यह पूछा गया कि क्या उन्हें विदेशों से भारत की ओर वापस प्रतिभा पलायन की संभावना दिखती है तो उन्होंने तुरंत जवाब दिया ‘कोई शक नहीं।’ देश के सबसे अमीर उद्योगपति ने इस मामले में कहा, ‘जो भी वजह हो उन्हें इस देश में वापस लाया जाना चाहिए, वह इस देश के 1.30 अरब लोगों के जीवन को सुधारने में मदद कर सकते हैं और विकास का नया मॉडल यहां रख सकते हैं।’

अंबानी ने कहा कि बदली परिस्थितियों में इससे बेहतर और कुछ नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि रिलायंस इंडस्ट्रीज को कई ऐसे भारतीय मिले जिन्होंने बाद में दूसरे देशों में नेतृत्व की भूमिका निभाई।

रिलायंस को इस तरह की दो-से-तीन प्रतिभाएं हर महीने मिलतीं हैं। अंबानी ने कहा, ‘आने वाले समय में अधिक से अधिक प्रतिभाएं हमारे दरवाजें पर होंगी क्योंकि आखिर ‘हर एक का दिल है हिन्दुस्तानी। लोग भारत के लिये कुछ करना चाहते हैं।’

[email protected]