Illegal mining

चार पोकलैंड, 17 ट्रक सीज व 11 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज

97

रिजवान उद्दीन की रिपोर्ट-

हमीरपुर- यूपी के हमीरपुर जिले में जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश व पुलिस अधीक्षक हेमराज मीणा ने खनिज अधिकारियों के साथ शनिवार की देर रात कई मौरंग खदानों में छापामारी की. छापामार कार्रवाई रविवार को सुबह तक चलती रही. जिसमें बेतवा नदी की जलधारा रोक कर प्रतिबंधित मशीनों से अवैध खनन करने पर जिलाधिकारी ने बड़ी कार्रवाई की है.

मौरंग खदान संचालक के खिलाफ अवैध खनन करने का मुकदमा दर्ज कराया गया है. मौरंग खदान से चार प्रतिबंधित मशीनें, 17 ट्रक भी कब्जे में लेने के साथ ही अवैध खनन में लगे 11 लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है. इस कार्रवाई से मौरंग खदानों में हड़कंप मचा हुआ है.

जिले के चिकासी थाना क्षेत्र में चंदवारी, घुरौली सहित कई इलाकों में संचालित मौरंग खदानों में खुलेआम प्रतिबंधित मशीनों से बेतवा नदी की जलधारा रोकर अवैध खनन करने का खेल चल रहा था. मामले की जानकारी होते ही जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने शनिवार को देर रात खनिज अधिकारियों व अन्य अधिकारियों को बुलवाकर कार्रवाई करने के लिये रणनीति बनायी.

आधी रात के बाद जिलाधिकारी ने पुलिस अधीक्षक, अपर जिलाधिकारी विनय प्रकाश श्रीवास्तव, अपर पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह व खनिज अधिकारी पुलिस बल के साथ चिकासी क्षेत्र में मौरंग खंड-26/3 में छापा मारा. छापामारी में चार प्रतिबंधित पोकलैंड हेलीमेट मशीन पकड़ी गयी. साथ ही मौके से 17 ट्रक पकड़े गये है.

अवैध खनन में लगे 11 लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है. अधिकारियों ने इस मौरंग खदान में पाया कि बेतवा नदी की जलधारा रोककर मशीनों से खुलेआम अवैध खनन किया जा रहा है. इस मौरंग खदान में एनजीटी के नियमों व प्रावधानों की भी धज्जियां उड़ायी जा रही थी.

जिलाधिकारी के निर्देश पर शनिवार को चिकासी थाने में खनिज विभाग की ओर से मौरंग खदान संचालक धर्मेन्द्र सिंह तोमर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है. यह मौरंग खंड न्यू इयेन एसोसिएट ग्वालियर के नाम पट्टा है, जिसे धर्मेन्द्र सिंह तोमर चला रहे है. प्रतिबंधित मशीनों और ट्रकों को सीज कर दिया गया है.

अपर जिलाधिकारी विनय प्रकाश श्रीवास्तव ने शनिवार को दोपहर बताया कि जिलाधिकारी के नेतृत्व में पूरी रात मौरंग खदानों में छापेमारी की गयी है. मौरंग खंड 26/3 में नदी की जलधारा रोक कर खनन करने और नियमों की अनदेखी किये जाने पर मौरंग खदान के पट्टाधारक धर्मेन्द्र सिंह के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई गयी है.

उन्होंने बताया कि मौके से 11 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इनमें ज्यादातर लेबर और ट्रक चालक है. अपर जिलाधिकारी ने बताया कि इस खंड के अलावा अन्य तीन मौरंग खदानों में भी छापेमारी की गयी. लेकिन, उससे पहले ही खदानों में कोई नहीं मिला. सभी लोग कार्रवाई से पहले ही भाग गये. उन्होंने बताया कि पट्टाधारक नियमों के खिलाफ खनन करेंगे तो उन्हें बख्शा नहीं जायेगा.