terrorist masood azhar

एक बार फिर चीन ने लगाया अड़ंगा, किया मसूद अजहर पर वीटो का इस्तेमाल

164

दुनिया। आखिरकार चीन ने एक बार फिर ने आतंक के मामले में पाकिस्तान का साथ दिया है। जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित कारने को लेकर भारत ने अपनी पूरी तैयारी कर थी।

लेकिन, चीन ने मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के प्रस्ताव पर वीटो का इस्तेमाल कर दिया। वहीं इसके साथ ही यह प्रस्ताव रद्द हो गया। चीन की इस हरकत को लेकर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने एक बड़ा बयान जारी किया है।

उन्होंने कहा कि जब तक पाकिस्तान आतंकियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करता, तब तक उनके साथ कोई बातचीत नहीं होगी।  दरअसल, सूत्रों के अनुसार चीन इस बात पर अड़ा है कि उसकी मसूद अजहर के साथ कोई लिंक नहीं है।

साथ ही चीन ने यह दलील दी है कि मसूद अजहर के खिलाफ उसके पास कोई सबूत नहीं है। वहीं अब चीन के कारण सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन के जरिए लाए जा रहे प्रस्ताव में अड़ंगा लगा दिया है।

वहीं इस विषय को लेकर कांग्रेस के नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट कर लिखा कि ‘आतंकवाद के खिलाफ वैश्विक लड़ाई में एक दुखद दिन। चीन ने मसूद अजहर के पद को वैश्विक आतंकवादी के रूप में अवरुद्ध कर दिया और आतंकवाद के प्रजनन के आधार पर पाकिस्तान के अविभाज्य सहयोगी होने की चीनी स्थिति की पुष्टि की अफसोस की बात है कि मोदीजी की विदेश नीति कूटनीतिक आपदाओं की एक श्रृंखला रही है।’