ATM

असुरक्षा के साये में संचालित हो रहे हैं शहर के एटीएम

91
Rambihari pandey

रामबिहारी पांडेय

सीधी- शहर में विभिन्न बैंकों के करीब दो दर्जन से अधिक एटीएम संचालित हैं. इन एटीएम की सुरक्षा के लिए सुरक्षा के लिए सुरक्षा गार्ड तैनात किए गए हैं, लेकिन रात्रि के समय एटीएम से सुरक्षा गार्ड नदारद रहते हैं. ऐसी स्थिति में एटीएम की सुरक्षा भगवान भरोसे चल रही है.

एटीएम में रात्रि के समय सुरक्षा गार्ड न रहने से एटीएम तो असुरक्षित हैं ही साथ ही राशि निकासी करने जाने वाले उपभोक्ता भी असुरक्षित महसूस करते हैं, बावजूद इसके सुरक्षा गार्डों की उपस्थिति को लेकर जिम्मेदारों द्वारा न तो चेकिंग की जा रही है और न ही सुरक्षा कंपनियां ही ध्यान दे रही हैं.

एटीएम में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर मीडिया के द्वारा रविवार सोमवार की दरमियानी रात करीब 1 बजे से तीन बजे तक शहर के विभिन्न बैंकों के एटीएम का जायजा लिया गया तो करीब दो दर्जन एटीएम में से केवल एचडीएफसी बैंक के एटीएम में सुरक्षा गार्ड तैनात मिला, जबकि अन्य एटीएम वीरान पड़े हुए थे. एटीएम की सुरक्षा के लिए रात्रिकालीन ड्यूटी मेें तैनात सुरक्षा गार्डों की यह लापरवाही किसी दिन बड़े हादसे की वजह बन सकती है.

पुलिस के निर्देशों का नहीं हो रहा पालन-

एटीएम बूथों में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुलिस अधीक्षक द्वारा समय-समय पर बैंक अधिकारियों की बैठक लेकर गार्ड की ड्यूटी नियमित रूप से सुनिश्चित करने के निर्देश दिए जाते रहते हैं. लेकिन, पुलिस अधीक्षक के निर्देशों को बैंक अधिकारियों द्वारा तवज्जो नहीं दिया जा रहा है.

एटीएम बूथों में हो चुकी है तोड़-फोड़-

एटीएम बूथ में सुरक्षा मापदंडों की अनदेखी व सुरक्षा गार्डों के नदारद रहने से एटीएम बूथों को लूटे जाने के असफल प्रयाश की घटनाएं हो चुकी हैं. गत चार मार्च को शहर के अमहा मुहल्ले में स्थित UBI के एटीएम बूथ मेें रात्रि के समय तोड़-फोड़ कर राशि निकालने का असफल प्रयास किया गया था.

इसी रात शहर के लालता चौक स्थित पंजाब नेशनल बैंक के एटीएम बूथ में भी तोड़ फोड़ की गई थी. वहीं गत 11 मई को एसबीआई के पडऱा स्थित एटीएम बूथ में तोड़-फोड़ की जा चुकी है. ये अलग बात है कि किसी भी एटीएम बूथ से राशि निकाल पाने में अराजक तत्व सफल नहीं हो पाए थे.