Encroachment

तीन दशक पूर्व बनी गरीबों की दुकानों पर कलेक्टर ने चलवाया जेसीबी मशीन

199
Rambihari pandey

रामबिहारी पांडेय

सीधी- शहर के सोनांचल बस स्टैंड के सामने सुदामा कांपलेक्स की करीब तीन दर्जन दुकानों पर जेसीबी चलवाकर रविवार की शाम ढहा दिया गया. अब इस रिक्त स्थान पर पार्किंग स्थल विकसित किया जाएगा.

वहीं प्रभावित दुकानदारों को अन्य स्थान पर जमीन आवंटित की जाएगी. जहां उनकी स्वेच्छा अनुसार या तो नपा दुकान बनवाकर देगी या फिर व्यापारी स्वयं के द्वारा निर्माण करा सकेंगे. प्रशासन की इस कार्रवाई से तीन दर्जन व्यापारी फिलहाल सड़क पर आ गए हैं.

बताते चलेंं कि सीधी शहर को व्यवस्थित करने की दिशा में कलेक्टर अभिषेक सिंह द्वारा लगातार प्रयास किए जा रहे हैं. पहले गांधी चौक में पार्किंग स्थल विकसित किया गया, और अब सोनांचल बस स्टैंड के सामने पार्किंग स्थल विकसित करने के लिए सुदामा कांपलेक्स की तीन दर्जन दुकाने गिरा दी गईं.

व्यापारियों के साथ की गई थी बैठक-

विगत दिवस कलेक्टर ने व्यापारियों के साथ बैठक की थी. इसी बैठक में सुदामा कांपलेक्स की दुकानों को गिराने को निर्णय लिया गया था. बैठक में व्यापारियों से इसके लिए सहमति ली गई थी, कलेक्टर द्वारा दुकानदारों को आश्वासन दिया गया था कि दुकाने गिराने के एवज में आप लोगों को अलग व्यवस्थित स्थान दिया जाएगा.

सुबह सामान हटाने का फरमान-

व्यापारियों ने बताया कि रविवार को सुबह ही बिजली कंपनी के कर्मचारी दुकानों के विद्युत कनेक्शन काटने पहुंच गए, इसके बाद कलेक्टर द्वारा हम लोगों को नपा के कर्मचारियों के माध्यम से मौखिक फरमान भिजवाया गया कि अपनी-अपनी दुकानों से सामग्री हटा लें, शाम को दुकाने गिरवाई जाएंगी. आदेश मिलते ही दुकानदारों द्वारा अपनी दुकानों से सामग्री हटा ली गई.

पहले सम्राट चौक, फिर छत्रसाल स्टेडियम के पास दिखाया गया स्थल-

सुदामा कांप्लेक्स में दुकान संचालित करने वाले व्यापारियों को कलेक्टर अभिषेक ङ्क्षसह द्वारा रविवार की सुबह सम्राट चौक में बुलवाया गया, और पीएचई कार्यालय के बगल में खाली कराए गए स्थल को दिखाकर बताया गया कि इसी स्थान पर व्यापारी 10 वाई 10 का स्थान चिन्हित कर लें, यह स्थान उन्हे आवंटित कर दिया जाएगा.

फिर चाहे दुकानदार चाहे तो स्वयं वहां दुकान का निर्माण करा सकता है या फिर चाहे तो नपा दुकान बनाकर उन्हें उपलब्ध करा देगी. इसके बाद दोपहर के समय व्यापारियों को कलेक्टर अभिषेक सिंह छत्रसाल स्टेडियम के पास बनाए गए हाकर्स जोन के पास ले गए और स्थल दिखाकर बोला की यह भी एक अच्छा स्थान है, यहां भी व्यापारी चाहें तो उन्हे 10 वाई 10 का स्थान दुकान संचालन के लिए आवंटित करवा दिया जाएगा.

हाई कोर्ट से था स्थगन आदेश-

सोनांचल बस स्टैंड के सामने स्थित सुदामा कांपलेक्स की 36 दुकानों को गिराकर वहां पार्किंग स्थल विकसित कराए जाने की तैयारी नगर पालिका द्वारा पिछले कई वर्षों से की जा रही थी. करीब दो वर्ष पूर्व जब नगर पालिका द्वारा इस आशय का नोटिस संबंधित व्यापारियों को भेजी गई तो व्यापारी संयुक्त रूप से इसके विरोध में हाई कोर्ट चले गए थे, जहां से स्थगन आदेश मिल गया था, जो अभी प्रचलन में है.

व्यापारियों ने बताया कि जब हाल में प्रशासन द्वारा दुकान गिराए जाने की बात लाई गई तो हम लोगों द्वारा हाई कोर्ट का स्थगन आदेश नगर पालिका कार्यालय में जमा किया गया, लेकिन उस आदेश को कोई तवज्जो नहीं दिया गया.

फूट-फूट कर रोए व्यापारी-

सुदामा कांपलेक्स की दुकानों में जब जेसीबी चलाई जा रही थी, तब कई व्यापारियों के आंखो से आंसू छलक आए. वैष्णवी श्रृंगार स्टोर के संचालक की बच्ची तो फूट-फूट कर रो रही थी, क्योंकि दुकान गिरने से अब उनका व्यापार चौपट हो चुका है. बावजूद इसके व्यापारियों व उनके परिवार के रोने का कोई असर नहीं पड़ा और देखते ही देखते सारी दुकाने धरासाई हो गईं.

तीन दशक पूर्व आवंटित हुई थी दुकानें-

व्यापारियों की माने तो उक्त दुकानें उन्हें करीब तीन दशक पूर्व नगर पालिका द्वारा उन्हें आवंटित की गई थी, जहां वह लंबे अर्से से व्यापार करते आ रहे थे, लेकिन पार्किंग स्थल विकसित करने के नाम पर आज दुकानों को ढहा दिया गया और लंबे समय से यहां व्यापार करने वाले व्यापारी सड़क पर आ गए.

कई दुकानदारों का कहना है कि अभी तो यहां वहां दुकाने संचालन के लिए स्थान उपलब्ध कराने की बात प्रशासन द्वारा कही जा रही है, लेकिन स्थान कब तक मिलेगा और कहां मिलेगा, इसकी कोई निश्चितता नहीं है.