BREAKING NEWS
Search
Nigam Bodh ghat

निगम बोध घाट पर शव का अंतिम संस्कार करने से रोका, कोरोना वायरस से हुई है महिला की मौत

378

New Delhi: कोरोना वायरस से जिस बुजुर्ग महिला की शुक्रवार शाम को मौत हुई थी उसके शव को निगम बोध घाट ने अंतिम संस्कार करने से रोक दिया है। निगम बोध घाट के संचालक सुमन गुप्ता ने कहा कि वहां पर शव लाए जाने की सूचना है। वह निगम बोध घाट जा रहे हैं। यह भी बताया जा रहा है कि आरएमएल के डॉक्टर अंतिम संस्कार पर फैसला लेंगे, क्योंकि निगम बोध शमशान घाट पर लकड़ी और सीएनजी से ही अंतिम संस्कार होता है।

  • स्थानीय पुलिस का कहना है कि निगम बोध घाट पर सीएनजी से अंतिम संस्कार किया जाएगा।
  • उत्तरी दिल्ली नगर निगम (North Delhi Municipal Corporation) के जनस्वास्थ्य अधिकारी डॉ. अशोक रावत भी मौके पर पहुंच गए हैं।

वहीं, स्वास्थ्य विभाग के स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय का कहना है कि कोरोना के कारण मौत होने पर सतर्कता के साथ दाह संस्कार हो सकता है। इससे संक्रमण का कोई खतरा नहीं है। उनके मुताबिक, बिजली, सीएनजी या लकड़ी से अंतिम संस्कार किया जा सकता है। यदि निगम बोध घाट पर दाह संस्कार से रोका गया हैस तो प्रबंधक से बात करके अंतिम संस्कार कराया जाएगा।

बता दें कि इटली और स्विट्जरलैंड से लौटे दिल्ली के जनकपुरी निवासी एक व्यक्ति को कोरोना वायरस संक्रमित पाया गया था। उसके परिवार के नौ सदस्यों को आइसोलेट करा दिया गया। बाद में उसकी 68 वर्षीय मां इसकी चपेट में आ गईं। उन्हें हफ्ते भर पहले आरएमएल अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इलाज के दौरान उनके शुगर और निमोनिया से पीड़ित होने का पता चला था। शुक्रवार रात उनकी मौत हो गई। इससे पहले रात को ही स्वजन डेड बॉडी दी जाएगी या नहीं। उन्होंने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री से भी संपर्क की कोशिश की थी।

यह भी जानें

  • दिल्ली में अब तक 6 मरीज सामने आ चुके हैं।
  • पूरी दुनिया में 5000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।
  • दिल्ली, यूपी और हरियाणा में इसे महामारी घोषित किया जा चुका है।
  • दिल्ली और हरियाणा में 31 मार्च तो यूपी में 22 मार्च तक स्कूल-कॉलेज बंद किए जा चुके हैं।
  • केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस के चलते मास्क और हैंड सेनिटाइजर को 30 जून तक आवश्यक वस्तु अधिनियम के दायरे में रखने का आदेश दिया है।