Riti pathak

कोर्ट से भाजपा उम्मीदवार को बड़ी राहत, आचार संहिता मामले में मिली अग्रिम जमानत

331
Rambihari pandey

रामबिहारी पांडेय

सीधी- 19 दिन पूर्व 17 के लोकसभा चुनाव के मतदान के दौरान हुए भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार व अन्य उम्मीदवारों के अभिकर्ताओं से नोकझोंक व बनाए गए नियम को तोड़ने के आरोप का मामला पंजीबद्ध किया गया. जिससे बचने के लिए वर्तमान सांसद व भाजपा उम्मीदवार श्रीमती रीति पाठक अदालत की चौखट तक पहुंच गयी हैं.

उन्होंने अपने अधिवक्ता के माध्यम से अग्रिम जमानत की दरखास्त जिला न्यायालय सीधी ने लगाई थी. जहां विद्वान न्यायाधीश ने मामले की सुनवाई करते हुए अग्रिम जमानत देकर राहत दे दी है. बता दें कि 29 अप्रैल को संपन्न हुए सीधी संसदीय क्षेत्र के के दौरान चुरहट विधानसभा के कोष्टा पोलिंग बूथ में फर्जी मतदान किए जाने की उनके अभीकर्ता द्वारा दी गई.

सूचना के आधार पर पोलिंग बूथ पहुंचकर पीठासीन अधिकारियों सहित अन्य उम्मीदवारों के अभीकर्ता ओं से तीखी नोकझोंक हुई. पोलिंग बूथ के बाहर से लेकर अंदर तक के वीडियो रिकॉर्डिंग करवाई थी. जिसे निर्वाचन आयोग ने गंभीरता से लेते हुए उनके विरुद्ध लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम की धारा 131 सरकारी आदेश के उल्लंघन करने की धारा 188 चुरहट थाना में अपराध दर्ज कर विवेचना की जा रही है.

जिस पर वर्तमान सांसद आरोपी बनाई गई. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार भाजपा उम्मीदवार ने बुधवार को जिला न्यायालय सीधी में अधिवक्ताओं के माध्यम से अग्रिम जमानत की दरख्वास्त की थी.

विभिन्न पहलुओं पर विचार मंथन के बाद न्यायालय ने उनके अर्जी को स्वीकार करते हुए अग्रिम जमानत मंजूरी दे दी है. जानकारों की मानें तो पुलिस का विवेचना अभी अधूरा है, जिससे मामले को सुनवाई के लिए अदालत में पेस नहीं किया गया है. उनके आवेदन पर डायरी पेश कर दी गई थी. डायरी में वर्णित तथ्यों के आधार पर भाजपा उम्मीदवार को राहत दी है.