BREAKING NEWS
Search
अशोक यादव

बीएचयू डॉक्टर से रंगदारी माँगनें वाला ईनामी अपराधी पुलिस एन्काउंटर में खाया गोली

565

अशोक यादव पर एक दर्जन से ज्यादा आपराधिक मुकदमें दर्ज हैं, पुलिस प्रशासन नें उस पर 25000 का ईनाम घोषित किया था

Shabab Khan

शबाब ख़ान (वरिष्ठ पत्रकार)

 

 

 

 

 

वाराणसी: सर सुंदर लाल अस्पताल के रेडियोलोजी विभाग में कार्यरत अस्सिटेंट प्रो० अमित नंदन द्विवेदी को फोन कर के 15 लाख रुपयों की रंगदारी मांगने और न देने पर जान से मारने की धमकी देने वाले कुख्यात बदमाश अशोक यादव के खिलाफ कल ही लंका थानें में तहरीर दी गई थी, जिसके बाद वाराणसी पुलिस यादव की लोकेशन प्राप्त करने में लग गई।

क्राइम ब्रांच

Cop Sumant Singh also received bullet injuries and is being treated in BHU Trauma Centre…

पुलिस की मेहनत रंग लाई और रविवार शाम वाराणसी पुलिस और कुख्‍यात बदमाश अशोक यादव के बीच लंका इलाके में मुठभेड़ हो गई। इस दौरान हुई कई राउंड फायरिंग से पूरे इलाके में दहशत फैल गयी।

पुलिस एनकाउंटर में 25 हजार के इनामी अशोक यादव को गोलियां लगी हैं। इसके अलावा गोलीबारी में क्राइम ब्रांच के कांस्‍टेबल सुमन्त सिंह भी घायल हुए हैं।

वाराणसी के वरिष्‍ठ पुलिस अधीक्षक आरके भारद्वाज ने मीडिया को बताया कि अशोक यादव एक कुख्‍यात बदमाश है। इसके ऊपर हत्‍या सहित कई गंभीर आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं। अधिकारी ने बताया कि आज ही लंका थाने में इसके खिलाफ बीएचयू के एक डॉक्‍टर ने 15 लाख रुपये रंगदारी मांगने और जान से मारने की धमकी देने की शिकायत दर्ज करायी थी।

एसएसपी आरके भारद्वाज के अनुसार डॉक्‍टर की शिकायत को संज्ञान में लेते हुए अशोक यादव की धर-पकड़ के लिए क्राइम ब्रांच और लंका पुलिस प्रयासरत थी। इस दौरान इसकी फोन की लोकेशन ट्रेस हुई।

पुलिस के अनुसार लंका थानाक्षेत्र के सीरगोवर्धन इलाके में चेकिंग की जा रही थी, इसी बीच बिना नम्बर प्लेट की गाड़ी आती दिखाई दी। पुलिस ने जब गाड़ी को रुकने का इशारा किया तो बदमाशों ने फायरिंग शुरू कर दी। इसके बाद पुलिस ने भी बदमाशों के खिलाफ अपनी बंदूकों का मुंह खोल दिया।

दोनों ओर से कई राउंड फायरिंग हुई, जिसमें 25 हजार के इनामी बदमाश अशोक यादव को पैर में गोली लगी। वहीं क्राइम ब्रांच के एक कांस्‍टेबल सुमंत सिंह भी बदमाशों की गोलियों से घायल हो गये। पुलिस ने इस दौरान अशोक यादव के बाइक सवार साथी को भी दबोच लिया है। घायल बदमाश और बहादुर कांस्‍टेबल का उपचार वाराणसी के ट्रामा सेंटर में चल रहा है।

अशोक यादव पर बनारस, मिर्जापुर और गाजीपुर में हत्या, हत्या का प्रयास, लूट और छेड़खानी के दर्जनों मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस के मुताबिक अशोक सनी गिरोह से जुड़ा है। वह हत्या के मामले में फरार सजायाफ्ता बदमाश भुवर यादव का भाई है। कुछ महीने पहले रमना से लंका पुलिस ने जब भुवर को पकड़ा तो इन सबने पुलिस टीम पर हमला कर दिया था।

अशोक यादव का जरायम की दुनिया से भी पुराना नाता है। उस पर गाजीपुर के सैदपुर में सोना व्यापारी को गोली मारकर लूट और गाजीपुर पुलिस पर गोली चलाने का मामला दर्ज है। इसके अलावा लंका के मलहिया में भाजपा कार्यकर्ता मुन्नू पटेल की हत्या में शामिल अशोक यादव मोहम्मद शेरू की हत्या में भी वांछित है। इसके अलावा लंका में हत्या के प्रयास, लूट और छेड़खानी के मामलों में वांछित है।

चेतगंज में सोना लूट में वांछित और रोहनियां में हत्या के प्रयास और लूट का मुकदमा दर्ज है। मिर्जापुर के अदलहाट थाने में हत्या का मुकदमा दर्ज है। अशोक पर चौक और भेलुपुर सहित कई थानों में मुकदमा दर्ज है। इसके अलावा अर्जुन पर भी दर्जनों मुकदमे दर्ज हैं।

पुलिस अब अशोक यादव और उसके साथियों का पूरा क्राइम रिकॉर्ड खंगालने में जुट गयी है।