BREAKING NEWS
Search
Dead body found

बंगाल में भाजपा कार्यकर्ता का शव मिलने पर मचा हडकंप, लोगो ने सड़क जाम कर किया प्रदर्शन

163
Share this news...

कोलकाता.  बंगाल के नदिया जिले के चकदाह में रविवार तड़के भाजपा के एक कार्यकर्ता का शव मिला। पुलिस ने बताया कि चकदह में दिलीप कीर्तनिया (31) का शव मिला। इसके बाद भाजपा कार्यकर्ताओं ने सड़क जाम कर प्रदर्शन किया और आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस ने कीर्तनिया की हत्या की। पुलिस ने इस मामले में दर्ज शिकायत के हवाले से कहा कि कीर्तनिया के परिवार ने आरोप लगाया कि वह शौच के लिए रात में बाहर गया था, लेकिन वापस नहीं लौटा। पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि जब वह बहुत देर तक नहीं लौटा, तो उसकी तलाश शुरू की गई और वह अपने आवास से कुछ मीटर दूर घायल अवस्था में मिला। उसे चकदाह के सरकारी अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। उसके निजी अंगों में कई चोटें लगी थीं।

पार्टी कार्यकर्ताओं ने कीर्तनिया की मौत की खबर सुनकर इलाके में प्रदर्शन किए। पुलिस ने बताया कि भाजपा कार्यकर्ताओं ने हत्या के लिए जिम्मेदार लोगों की गिरफ्तारी की मांग की और राष्ट्रीय राजमार्ग 24 को बाधित करके प्रदर्शन किया। बंगाल विधानसभा चुनाव के पांचवें चरण में शनिवार को चकदह सीट के लिए मतदान हुआ था और इस दौरान पुलिस ने एक मतदान केंद्र के बाहर निर्दलीय उम्मीदवार कौशिक भौमिक को गिरफ्तार किया था और उसके पास से देसी पिस्तौल बरामद की थी।

गौरतलब है कि इससे पहले फरवरी, 2021 में बंगाल में एक ओर मुर्शिदाबाद जिले में राज्य के मंत्री पर बम से हमला हुआ तो दूसरी ओर कोलकाता में भाजपा नेता पर ईंटों से हमला किया गया। हमले में घायल उत्तर कोलकाता के जिला भाजपा अध्यक्ष शिबाजी सिंह रॉय को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। कहा जा रहा है कि हमला फूल बागान इलाके में उस समय हुआ जब वह सुवेंदु अधिकारी और शंकुदेब पांडा के साथ वहां मौजूद थे। भाजपा जिला अध्यक्ष पर हुए हमले को लेकर बालूरघाट से लोकसभा सांसद डॉ सुकांत मजूमदार पहुंचे। उन्होंने हमले का आरोप तृणमूल पर लगाया है। उन्होंने कहा कि बंगाल में कानून-व्यवस्था खत्म हो चुकी है। खुलेआम भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं पर जानलेवा हमले हो रहे हैं।

मजूमदार ने इस हमले को लेकर ट्वीट किया, ‘फूलबागान में भाजपा के एक और नेता पर जानलेवा हमला तृणमूल के गुंडों ने किया। इस बार निशाना भाजपा के तीन नेता सुवेंदु अधिकारी, शंकुदेब और शिबाजी सिंह रॉय भी थे। हमले में शिबाजी घायल हो गए हैं। बंगाल में कानून व्यवस्था तो कभी थी ही नहीं… और अब तो पूरी तरह से गायब है।’ बुधवार की रात को ही बंगाल के श्रम राज्य मंत्री जाकिर हुसैन पर भी कुछ अज्ञात हमलावरों ने हमला किया था। बमों से किए गए इस हमले में उन्हें गंभीर चोटें आईं। जाकिर हुसैन पर हमला उस समय किया गया जब वह निमतिता रेलवे स्टेशन पर कोलकाता के लिए ट्रेन में बैठने जा रहे थे।

Share this news...