BREAKING NEWS
Search
thakre

महाराष्ट्र में ठाकरे राज: उद्धव मुख्यमंत्री बने, अजित पवार ने कहा- डिप्टी सीएम पद पर राकांपा में फैसला बाकी

379

New Delhi: उद्धव ठाकरे (59 वर्ष) ने गुरुवार शाम 6:40 बजे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। उद्धव ने कहा, “मैं छत्रपति शिवाजी महाराज और अपने माता-पिता का स्मरण कर शपथ शुरू करता हूं। उद्धव शपथ लेने के बाद जमीन पर बैठ गए और झुककर सबका अभिवादन किया। राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने उन्हें शपथ दिलवाई, जिन्होंने 6 दिन पहले देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री और अजित पवार को उप मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलवाई थी। उद्धव शपथ के तुरंत बाद परिवार के साथ सिद्धि विनायक मंदिर दर्शन करने के लिए गए।

शपथ ग्रहण समारोह में शिवाजी पार्क में करीब 70 हजार समर्थकों के अलावा द्रमुक अध्यक्ष एमके स्टालिन, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ, भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस, मनसे प्रमुख राज ठाकरे, रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी और उनकी पत्नी नीता अंबानी भी मौजूद थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फोन कर उद्धव को बधाई दी। सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने उद्धव को बधाई दी, लेकिन समारोह में न शामिल हो पाने पर खेद भी जाहिर किया। इनके अलावा बंगाल की मुख्यमंत्री ममता, पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा ने भी उद्धव को बधाई दी।

इन विधायकों ने मंत्री पद की शपथ ली

शिवसेना: विधायक दल के नेता एकनाथ शिंदे, सुभाष देसाई।

राकांपा:  विधायक दल के नेता जयंत पाटिल, छगन भुजबल।

कांग्रेस: विधायक दल के नेता और 8 बार के विधायक बालासाहेब थोराट।

चर्चा थी कि अजित पवार भी शपथ लेंगे, लेकिन समारोह से पहले उन्होंने खुद ही इस बात को नकार दिया। अजित ने कहा, “मैं शपथ नहीं ले रहा हूं। उप मुख्यमंत्री पर अभी फैसला नहीं हुआ है। राकांपा के भीतर इस पर फैसला होना अभी बाकी है।”

उद्धव के शपथ में 6 पूर्व मुख्यमंत्री पहुंचे
उद्धव के शपथ ग्रहण में राकांपा अध्यक्ष शरद पवार, शिवसेना नेता मनोहर जोशी, कांग्रेस नेता सुशील कुमार शिंदे, अशोक चह्वाण और पृथ्वी राज चौहान पहुंचे। इनके अलावा देवेंद्र फडणवीस भी समारोह में मौजूद थे। ये 6 नेता महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री रह चुके हैं।

सेकुलर गठबंधन के नेता उद्धव ने भगवा कुर्ते में शपथ ली
महाराष्ट्र विकास आघाड़ी के नेता उद्धव ने भगवा कुर्ते में शपथ ग्रहण किया। उनके माथे पर लाल रंग का तिलक लगा हुआ था। जबकि राकांपा-शिवसेना-कांग्रेस का यह गठबंधन सेकुलर है। उद्धव समेत सभी मंत्रियों ने मराठी में शपथ ली। इससे पहले उन्होंने छत्रपति शिवाजी की मूर्ति को प्रणाम किया।

शिवाजी पार्क में ही हुआ था ऐलान- शिवसैनिक बनेगा मुख्यमंत्री
ठाकरे परिवार के लिए मुंबई का शिवाजी पार्क हमेशा से खास रहा है। यही वो मैदान है, जहां शिवसेना हर साल दशहरे के दिन रैली करती है। इसी दिन बाला साहेब ठाकरे इसी मैदान से शिवसैनिकों को संबोधित करते थे। उनके निधन के बाद उद्धव ने इस परंपरा को जारी रखा। इसी मैदान में बाला साहब का अंतिम संस्कार हुआ। छत्रपति शिवाजी महाराज की बड़ी प्रतिमा के पास ही बाल ठाकरे का स्मारक बना हुआ है। इसी साल दशहरा रैली के मौके पर ऐलान किया गया था कि महाराष्ट्र का अगला मुख्यमंत्री शिवसेना का होगा।