BREAKING NEWS
Search
Trains and flights cancelled due to coronavirus

3700 ट्रेनें, दिल्‍ली मेट्रो और 1000 उड़ानें जनता कर्फ्यू में रहेंगी रद

480

New Delhi: कोरोना वायरस का विश्‍वभर में बढ़ता ही जा रहा है। भारत भी बेहद नाजुक दौर से गुजर रहा है। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जनता कर्फ्यू के एलान को गंभीरता से लेने की जरूरत है। इसी के मद्देनजर जनता कर्फ्यू में 3,700 ट्रेनें, दिल्‍ली मेट्रो और 1,000 उड़ानें रद रहेंगी। दिल्‍ली के साथ-साथ कई शहरों में मॉल, सिनेमा हॉल, होटल, रेस्‍टोरेंट भी बंद रहेंगे।

3700 ट्रेनें रद

भारतीय रेलवे के आदेशानुसार, 22 मार्च को देश भर में रोजाना चलने वाली 2400 पैसेंजर ट्रेने तथा 1300 मेल/एक्सप्रेस ट्रेने नहीं चलेंगी। इन ट्रेनों के लिए की गई बुकिंग रद मानी जाएगी। इनका पूरा पैसा यात्रियों को रिफंड किया जाएगा। हालांकि, रविवार को जो पैसेंजर ट्रेनें 7 बजे सुबह परिचालन में रहेंगी, उन्हें गंतव्य तक पहुंचने दिया जाएगा। रेलवे के इस कदम से लाखों लोग घरों में ही रहेंगे और कारोना वायरस से भारत की जंग में मदद मिलेगी।

1000 उड़ानें रहेंगी रद

भारत सरकार के आदेशानुसार जल्‍द ही अंतरराष्‍ट्रीय विमानों के भारत में लैंडिंग पर रोक लगने वाली है। इस बीच जनता कर्फ्यू के समर्थन में दो देसी विमानन कंपनियां, इंडिगो और गोएयर भी आ गई हैं। गोएयर ने रविवार को अपनी सारी घरेलू उड़ानें रद करने का फैसला किया है। वहीं, इडिगो ने महज 40% उड़ानें संचालित करने की ही बात कही है। अनुमान के मुताबिक, दोनों कंपनियों के फैसले से रविवार को करीब 1 हजार उड़ानें रद हो जाएंगी। ऐसी भी संभावना है कि कुछ और विमानन कंपनियां भी जनता कर्फ्यू के समर्थन में आज उतर आएं।

जनता कर्फ्यू में दिल्ली मेट्रो रहेगी बंद

दिल्ली मेट्रो रेल कारपोरेशन (डीएमआरसी) ने भी जनता कर्फ्यू का समर्थन करने का निर्णय लिया है। डीएमआरसी ने 22 मार्च को दिल्ली मेट्रो की सेवाएं बंद रखने की घोषणा की है। 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के तहत दिल्ली मेट्रो पूरी तरह से बंद रहेगी। यह शायद पहला मौका होगा, जब दिल्‍ली मेट्रो पूरी तरह से किसी दिन बंद रहेगी। बता दें कि इससे पहले भी दिल्‍ली मेट्रो कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए काफी सतर्कता बरत रही है। कई बदलाव मेट्रो के द्वारा किए गए हैं, जिनमें एक सीट छोड़कर बैठने का निर्देश भी शामिल है। इसके साथ ही मेट्रो को समय-समय पर सैनेटाइज भी किया जा रहा है।

गौरतलब है कि देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि इस रविवार 22 मार्च को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक देशवासी जनता कर्फ्यू का पालन करें। जनता कर्फ्यू का मतलब है जनता के लिए, जनता द्वारा खुद पर लगाया गया कर्फ्यू है। कोरोना वायरस से लड़ने का अभी यही सबसे कारगर उपाय है।   साथ ही उन्‍होंने कहा था कि 22 मार्च को हमारा ये प्रयास, हमारे आत्म-संयम, देशहित में कर्तव्य पालन के संकल्प का एक प्रतीक होगा। 22 मार्च को जनता-कर्फ्यू की सफलता, इसके अनुभव, हमें आने वाली चुनौतियों के लिए भी तैयार करेंगे।