BREAKING NEWS
Search
mama sell Minor niece

मामा ने रिश्तों को किया शर्मसार, नाबालिक भांजी को बेचा

531
Share this news...
Anil Upadhyay

अनिल उपाध्याय

देवास। मुंहबोले मामा ने उसे अपनी पत्नी को अस्पताल मे देखरेख करवाने के बहाने बुलाया फिर अपने साथियों की सहायता से बालिका को चाय में नशीली गोली मिलाकर चाय पिला दी। जब उसे होश आया तो वह एक कमरे में बंद थी, उसके कपड़े और नाम तक बदल दिया था। यह सनसनीखेज खुलासा उस बालिका ने किया। जिसे पुलिस ने आरोपित के चंगुल से छुड़ाकर नाबालिक को बेचने खरीदने वालों को हिरासत में लेकर पूछताछ जारी है।

मामला का खुलासा करते हुए थाना प्रभारी तहजीब काजी ने पत्रकारों को बताया कि 31 मई 2016 को खातेगॉंव निवासी फरियादिया के मुंह बोले मामा ने पुलिस थाना पहुंचकर रिपोर्ट दर्ज कराई कि उसकी 16-17 साल की नाबालिक बच्ची बस स्टेण्ड का बोलकर गई थी लेकिन वापस नहीं लौटी है।

फरियादिया की रिपोर्ट पर अपराध क्रमांक 470/16 धारा 363 भादवि का कायम कर जाच प्रारंभ की गई। प्रारंभिक साक्ष्यों तथा तकनीकी आधारो को देख कर लगा कि नाबालिक बालिका का किसी से प्रेम संबंध या बातचीत नही है। इसलिये बालिका को जबरन या व्यपहृत कर ले जाने की संभावना को दृष्टिगत रखते हुये पुलिस अधीक्षक देवास अंशुमानसिंह द्वारा कन्नौद अति0 पुलिस अधीक्षक नीरज चौरसिया, एसडीओपी कन्नौद शेरसिंह भूरिया को उक्त प्रकरण को गंभीरता से लेने के निर्देष दिये।

नाबालिग बालिका को ढूंढने के लिए की गई टीम गठित…

नाबालिग बालिका को ढूंढने के लिए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नीरज चौरसिया ने थाना प्रभारी तहजीब काजी के नेतृत्व में एक टीम गठित की जिसमे उप निरीक्षक सोनल सिसोदिया उपनिरीक्षक गुलाब सिंह आरक्षक रविंद्र तोमर एसएएफ आनंद जाट नगर सैनिक मनीष बाथोले महिला आरक्षक चेतना को शामिल किया गया तथा व्यपहृत बालिका की तलाष प्रारंभ की गई।

खातेगांव बस स्टैंड से गायब हुई थी बालिका…

पुलिस की विवेचना में यह तथ्य आया कि जब बालिका बस स्टेण्ड खातेगॉंव में गायब हुई थी। उस समय गुना, अशोकनगर एवं बैतुल के संदिग्ध व्यक्तियों की उपस्थिती पायी गई। इसी बीच नाबालिक बालिका द्वारा मौका पाकर अपनी मॉं को किसी नम्बर से कॉल कर बताया कि उसे बस स्टेण्ड पर चाय में कुछ मिला कर नशा देकर बहुत दूर ले आये हैं।

मुझे नहीं पता मुझे यह पता चला कि मुझे 35 हजार रू0 में इन लोगो को मुंह बोले मामा और राजाराम ने बेंच दिया है। पुलिस टीम द्वारा उपरोक्त जानकारी के आधार पर अत्याधुनिक तकनीक का उपयोग कर यह पता कर लिया गया कि बालिका के कहा पर छिपा कर रखा गया है, फिर पुलिस टीम द्वारा संदेही भूरा उर्फ राजाराम को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई तो उसके द्वारा अन्य साक्षियो के बारे में बताया जिसकी निशादेही पर ग्राम पाण्डरी चेतसील चंदेरी जिला अशोकनगर के जंगली इलाके में बने घर से व्ययपहृत बालिका को घेराबंदी कर दस्तयाब आरोपी पप्पू पिता ब्रजभान यादव के चंगुल से मुक्त कराया।

बालिका ने पुलिस को जो जानकारी दी उसके अनुसार बालिका के मुह बोले मामा ने उसे अपनी पत्नि को अस्पताल में देखरेख करवाने के बहाने बुलाया फिर अपने साथियों की सहायता के बहाने बुलाया फिर साथियों की सहायता से बालिका को चाय पिलाने के बहाने उसमें नशीली गोली मिला दी और बेहोश हो जाने के बाद उसे आरोपी पप्पू के घर होश आया।

जहां उसका नाम और कपड़े सब बदल दिये गये थे और उसे एक कमरे में बंद कर रखा जाता था आसपास वालों को बालिका का नाम गलत बता कर पप्पू की पत्नि बताने लगा। व्यपहृत बालिका से पूछताछ के बाद पुलिस द्वारा आरोपी भूरा उर्फ राजाराम पिता केदार नि0 बूरट युवक पप्पू पिता ब्रजभान यादव एवं उसके पिता ब्रजभान पिता राजधर यादव को गिरफ्तार कर लिया गया। शेष आरोपी अभी फरार है जिनकी तलाश की जा रही है।

Share this news...