BREAKING NEWS
Search
आपदा

बाढ़: आपदा प्रभावितों की हर सम्भव मदद के लिए कटिबद्ध है सरकार– यूपी सीएम

314

आपदा पीड़ितों को युद्धस्तर पर राहत पहुंचाने का काम करें अधिकारी, योगी नें जनप्रतिनिधियों व संगठनों से सहयोग की किया अपील…

Mithiliesh Pathak

मिथिलेश पाठक

 

 

 

 

 

 

गोंडा: यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को तहसील करनैलगंज अन्तर्गत एल्गिन-चरसड़ी बंधे का हवाई सर्वेक्षण कर बाढ़ की वर्तमान स्थिति का जायजा लिया तथा अस्थाई रिंग बांध के कट जाने से प्रभावित होने वाले लोगों को हर सम्भव राहत पहुंचाने के निर्देश दिए हैं।

दोपहर लगभग एक बजे पाल्हापुर बाढ़ राहत कैम्प पर पहुंचे प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि केन्द्र व प्रदेश की सरकार किसी भी आपदा से प्रभावित होने वाले लोगों को त्वरित राहत पहुंचाने के लिए जनता जनार्दन को आश्वस्त करती है। उन्होने कहा कि चाहे जिस प्रकार की भी आपदा हो सरकार द्वारा हर सम्भव और तत्काल मदद करने का प्रबन्ध किया गया है। उन्होने अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिया कि बाढ़ के कारण किसी भी प्रकार की जनहानि कतई न हो तथा पीड़ितों को हर सम्भव और अतिशीघ्र मदद मुहैया कराई जाय।

सीएम ने निर्देश दिए कि जलभराव वाले गांवों के लोगों को तत्काल राहत कैम्पों में विस्थापित करने का काम शुरू कर दिया जाए तथा कैम्पों में विस्थापितों को हर प्रकार की राहत सामग्रियां दी जायं। उन्होने निर्देश दिए के राहत कैम्पों में जीवनरक्षक दवाओं के साथ अन्य आवश्यक दवाओं, भोजन, पेयजल, जानवरों के भूसा इत्यादि की उपलब्धता प्रत्येक दशा में सुनिश्चित कराई जाय। उन्होने जनप्रतिनिधियों तथा विभिन्न संगठनों के लोगों से अपील किया कि वे सब मिलकर आपदा पीड़ितों को राहत पहुंचाने में सहयोग करें।

एल्गिन-चरसड़ी अस्थाई बांध के कटने पर उन्होने कहा कि आने वाले दिनों इस समस्या से स्थाई निजात मिलेगी। बाढ़ राहत तैयारियों से संतुष्ट सीएम ने बाढ़ प्रभावित लोगों से भी अपील किया कि वे स्थाई बांध बनाने में अवरोध उत्पन्न करने के बजाय सहयोग करें। इससे पूर्व प्रमुख सचिव सिंचाई टी० वेंकटेश ने बाढ़ प्रभावित गांव नकहरा में जाकर स्थिति का जायजा लिया तथा वहां की स्थिति से मुख्यमंत्री को अवगत कराया। उन्होने कहा कि सरकार बाढ़ पीड़ितों को तत्काल राहत पहुंचाने के प्रतिबद्ध है और इसीलिए वे इस वर्ष भी पीड़ितों का हाल चाल जानने आए हुए हैं। अधिकारियों को निर्देश दिए कि आपदा राहत कार्यों में किसी भी स्तर पर लापरवाही न बरती जाय।

इस दौरान सांसद कैसरगंज बृजभूषण शरण सिंह, जनपद के प्रभारी मंत्री उपेन्द्र तिवारी, समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री, आयु देवीपाटन मण्डल सुधेश कुमार ओझा, डीआईजी देवीपाटन परिक्षेत्र ए0के0 राय, विधायक करनैलगंज अजय प्रताप सिंह उर्फ लल्ला भइया, विधायक सदर प्रतीक भूषण सिंह, विधायक कटरा बावन सिंह, विधायक मेहनौन विनय द्विवेदी, विधायक गौरा प्रभात वर्मा, भाजपा जिलाध्यक्ष पीयूष मिश्र, डीएम कैप्टेन प्रभांशु श्रीवास्तव, एसपी लल्लन सिंह, पूर्व सांसद सत्यदेव सिंह, सीडीओ अशोक कुमार, एडीएम रत्नकार मिश्र, चीफ इन्जीनियर बाढ़ खण्ड, एसडीएम करनैलगंज गुलाम सरवर, सीओ जटाशंकर राव, अधिशासी अभियन्ता बाढ़ विश्वनाथ शुक्ला, हिन्दू युवा वाहिनी जिलाध्यक्ष शारदाकान्त पाण्डेय सहित सभी विभागों के शीर्ष अधिकारी रहे।