BREAKING NEWS
Search
जितिन्द्र प्रसाद

दिल्ली जाकर राहुल से मिले किसानों की मेहनत लायी रंग, राहुल के दूत बनकर आये जितिन प्रसाद

482

पिछले दिनों बीजेपी से मायूस मोहनसारय ट्रांसपोर्ट नगर के किसानों ने सर पर कफ़न बाँधकर दिल्ली में कांग्रेस मुख्यालय पर राहुल गांधी से मिलकर सुनाया था अपना दर्द…

Tabish Ahmed

ताबिश अहमद

 

 

 

 

 

 

वाराणसी: राहुल गांधी के दूत के रूप में वाराणसी में खून से खत लिखने वाले किसानों के बीच पहुंचे कांग्रेस के पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद ने भाजपा के दलित के घर भोजन करने को नौटंकी बताया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस कभी दिखावे की राजनीति नही करती। जितिन प्रसाद ने पीएम पर निशाना साधते हुवे कहा कि चार साल भाषण के खत्म अब रिपोर्ट कार्ड देने के समय आ गया है। साथ ही काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर योजना को जितिन संस्कृति पर चोट बताया।

बनारस में गरमायी सियासत
किसानों के मुद्दे से पहले कर्नाटक और बाद में देश साधने वाराणसी पहुंचे कांग्रेस के फायर ब्रांड नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद ने शहर के मोहनसराय ट्रांसपोर्ट नगर योजना से परेशान किसानों से मिलकर मौजूदा और पूर्व की प्रदेश सरकारों पर जमकर निशाना साधा है।

राहुल गांधी का दूत बनकर आया हूँ
जितिन प्रसाद ने बताया कि कुछ दिनों पहले किसानों का एक प्रतिनिधि मंडल राहुल गांधी से दिल्ली में मिला था। उसके बाद उन्होंने मुझे यहां भेजा है, कि जा के स्‍थिति पता कीजिये और मुझे अवगत कराइये, क्या समस्या है और क्या समाधान निकल सकता है। कांग्रेस पार्टी हर संभव प्रयास से किसानों की समस्या का समाधान कराएगी।

कांग्रेस ने किसानों के लिये क्‍या नहीं किया
जितिन प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस ने किसानों के लिये क्या नही किया, जमींदारी प्रथा से लेकर आज तक कांग्रेस किसानों के मुद्दों को उठाती रही है। आज जो किसान यहां धरने पर बैठें ही उन्ही से पूछिए, ज़मीन अधिग्रहण कानून कौन लाया और कौन इसके विरोध में था। विपक्ष के विरोध के बावजूद संसद के न चलने पर भी हम भूमि अधिग्रहण कानून लाये। चार पांच गुना बढ़ाकर इस कानून को हम लाये और भाजपा ने इसका कड़ा विरोध किया था।

दलित के घर भोजन भाजपा की नौटंकी
भाजपा द्वारा दलितों के घर भोजन करने के सवाल पर जितिन प्रसाद ने कहा कि हमने कभी दिखावे की राजनीति नही की पर यहां सिर्फ नौटंकी हो रही है। किसी को मच्छर काट रहा है। किसी को कैटरिंग वाला खाना परोस रह है, तो किसी के लिये टेंट वाला एसी लगा रहा है। यह सरासर दलितों के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है, उन्हें धोका दिया जा रहा है।

पीएम से पूछा सवाल
जितिन प्रसाद ने कहा कि मैं प्रधानमंत्री जी से बस इतना पूछना चाहूंगा कि जब उनकी सरकार 2014 में आई तो उन्होंने कहा था कि किसानों की आय दोगुनी हो जाएगी। मैं खुद उस दिन का इंतज़ार कर रहा हूँ, क्योंकि मैं खुद एक किसान हूं। पीएम बतायें कि उन्होंने किसानों के लिए क्या किया है, क्या उन्नत खेती के यंत्र दिए हैं, क्या उन्नत बीज, खाद या अन्य सामान दिए हैं। प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए कहा कि अब तो चार साल खत्म हो गए हैं, आप की सरकार के भाषण का वक़्त खत्म अब तो रिपोर्ट कार्ड का समय आ गया है।

विश्वनाथ कॉरिडोर संस्कृति पर हमला
जितिन प्रसाद ने गंगा पाथ वे और विश्वनाथ कॉरिडोर की आड़ में उस क्षेत्र में तोड़ फोड़ को काशी की संस्कृति पर चोट बताया और काशीवासियों से नींद से जागने को कहा।


पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद को सुमुख विनायक के दर्शन से रोका

वाराणसी के दौरे पर पहुंचे पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद शनिवार को जब यहां के प्राचीन सुमुख विनायक मंदिर दर्शन करने गए तो उन्हें रोक दिया गया। पुलिस वालों ने उन्हें मंदिर में जाने की अनुमति ही नहीं दी।

मंदिर प्रशासन के इस रवैये के खिलाफ साथ चल रहे लोगों ने इस पर विरोध जताया पर जितिन प्रसाद वहां से निकल गए। इससे पहले पूर्व केंद्रीय मंत्री ने धरोहर बचाओ समिति के साथ सरस्वती फाटक, नीलकंठ इत्यादि इलाकों का भ्रमण कर पूरी जानकारी ली।

शनिवार की सुबह काशी विश्वनाथ मंदिर का दर्शन करने पहुंचे जितिन प्रसाद ने मंदिर परिक्षेत्र का भी जायजा लिया। जब वह सुमुख विनायक मंदिर पर दर्शन करने पहुंचे तो वहां पुलिस वालों ने उन्हें रोक दिया।

पुलिस का कहना था कि बिना पूर्व अनुमति के वह मंदिर में दर्शन नहीं कर सकते हैं। इसके अलावा उन्होंने विश्वनाथ कॉरिडोर व गंगा पाथ वे के लिए गिराए जा रहे मंदिरों और प्राचीन भवनों का निरीक्षण भी किया।