Ayushman card

आयुष्मान कार्ड बनाने के बहाने बैंक से धन निकालने के मामले में चार आरोपी गिरफ्तार

50
Rambihari pandey

रामबिहारी पांडेय

सीधी। आयुष्मान कार्ड बनवाने के नाम पर महिलाओं से ठगी करने वाला गिरोह पुलिस के हत्थे चढ़ गया। जमोड़ी थाना पुलिस ने मामले से जुड़े चार आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके पास से एक लैपटाप, थंब इंप्रेशन यक्ष मशीन, मोबाइल, 10 हजार रुपए व पेन ड्राइव जब्त की है। उक्त आरोपियों के खिलाफ अब तक छह महिलाओं ने शिकायत दर्ज कराई है।

आयुष्मान कार्ड बनवाने का झांसा देकर इनके खाते से 71 हजार रुपए ट्रांसफर कर लिए थे। गिरोह का सरगना शिवानंद उर्फ सरकार मिश्रा निवासी पडखुरी नंबर-2 फिनो बैंक का कियोस्क संचालित करता है।

फरियादी कसिहवा निवासी दुर्गा जायसवाल पति तेजभान व रीतू पति शुभलायक जायसवाल (30) ने गत 11 मार्च को जमोड़ी थाने में शिकायत दर्ज कराई थी कि सरकार उर्फ शिवानंद मिश्रा पिता आनंद शर्मा (21) निवासी पडखुरी-2, मृगेश पिता राजकरण जायसवाल (21) निवासी कसिहवा, पुष्पराज पिता महेश विश्वकर्मा (25) निवासी पडख़ुरी तथा रमेश उर्फ मेछा जायसवाल पिता शत्रुधन (23) निवासी पडखुरी ने आयुष्मान कार्ड बनाने का झांसा देकर थंब इंप्रेशन मशीन में अंगूठा लगाया था।

गरीब महिलाएं थी मुख्य टारगेट:-

आधार कार्ड का नंबर लिंक करके कई लोगों के बैंक खाते से रकम अन्य खाते में ट्रांसफर कर ली थी। शिकायत के बाद पुलिस ने चारों आरोपियों के विरुद्ध भादवि की धारा 420, 34 के तहत मामल दर्ज कर गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया।

कार्रवाई में थाना प्रभारी जमोड़ी सरोज शर्मा, एसआई पवन सिंह, एएसआई चंद्रमणि पांडेय, प्रधान आरक्षक मनोज प्रजापति, प्रधान आरक्षक राजकुमार मिश्रा, आरक्षक रामचरित पांडेय, आरक्षक धीरेंद्र सिंह, चंद्रकुमार, होतीलाल की सहराहनीय भूमिका है। टीम को एडिशनल एसपी ने पुरस्कृत करने की बात कही है।

पुलिस ने की अपील:-

घटना के बाद पुलिस ने आमजन से अपील की है कि किसी भी व्यक्ति के बहकावे में आकर अपना आधार कार्ड, एटीएम कार्ड व खाता नंबर सहित अन्य व्यक्तिगत जानकारी किसी को नहीं दें। किसी के कहने पर अंगूठा न लगाएं। बैंक आपसे ऐसी जानकारी कभी नहीं मांगता।

यदि कभी कोई जानकारी लें, तो बैंक से संपर्क करें और धोखाधड़ी जैसा कोई संदेह होने पर तत्काल इसकी सूचना पुलिस को दें। ताकि आपके खून पसीने की गाढ़ी कमाई कोई हड़प न सके।

71 हजार की चपत:-

पुलिस के मुताबिक आरोपियों ने दुर्गा के खाते से 10 हजार, कलावती के खाते से 2700, रीतू जायसवाल के खाते से 10 हजार, राजकली जायसवाल के खाते से 10 हजार रुपए गायब की है। इस तरह छह महिलाओं को निशाना बनाते हुए 71 हजार 700 रुपए का गोलमाल किया है।

गिरोह का सरगना चलता है कियोस्क:-

पुलिस के अनुसार आयुष्मान कार्ड के नाम साइबर ठगी करने वाले गिरोह का सरगना शिवानंद उर्फ सरकार मिश्रा बैंक का कियोस्क संचालित करता है। शेष आरोपी उसके साथी हैं। पुलिस को शक है कि इन आरोपियों ने अन्य लोगों के साथ भी धोखाधड़ी की होगी। इसी सिलसिले में पूछताछ के लिए पुलिस ने उन्हें रिमांड में ले रखा है।