BREAKING NEWS
Search
तस्कर

भटकी युवतियों और किशोरियों को बेचने वाली शातिर महिला तस्कर का भंडाफोड़

533

लापता हुई दो नाबालिग युवतियों के बारे में सुरागरसी के दौरान तस्करों का पता चला पुलिस को…

Shabab Khan

शबाब ख़ान (वरिष्ठ पत्रकार)

 

 

 

 

 

 

वाराणसी: बनारस के पड़ोसी जिले भदोही में पुलिस ने महिला तस्कर गिरोह का खुलासा किया। पुलिस ने गिरोह के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया है। तस्कर भटकी युवतियों और किशोरियों को निशाना बनाते थे। इसके साथ ही पुलिस ने क्षेत्र के एक गांव से पखवारे भर पूर्व लापता हुईं दो किशोरियों को क्राइम ब्रांच और पुलिस की संयुक्त टीम ने बरामद कर लिया।

पुलिस लाइन के सभागार में अपर पुलिस अधीक्षक डॉ. संजय कुमार ने पत्रकारों के सामने गिरफ्तारी का खुलासा करते हुए बताया कि 22 मार्च 2018 को क्षेत्र के एक व्यक्ति ने तहरीर दी थी कि दो नाबालिग बेटियां लापता हो गईं हैं।

मुकदमा दर्ज करने के बाद सीओ भदोही अभिषेक पांडेय के नेतृत्व में क्राइम ब्रांच और भदोही पुलिस मामले की जांच में जुट गई। सर्विलांस के माध्यम से सुराग मिलने पर रविवार की शाम पुलिस ने कानपुर रेलवे स्टेशन के पास से तीन तस्करों को गिरफ्तार कर किशोरियों को बरामद कर लिया।

पुलिस की पूछताछ में तस्करों ने बताया कि वे नई दिल्ली में किराए का कमरा लेकर रहते हैं। कई प्रांतों में गैंग के सदस्य फैले हुए हैं, जो रेलवे स्टेशन, बस अड्डों पर भटकी युवितयों को अपने यहां शरण देने के नाम पर फंसाते हैं और फिर बेच देते हैं।

एएसपी ने बताया कि बरामद किशोरियों में एक को नोएडा के सतपाल गुज्जर को बेच दिया गया था, जिससे उसने शादी भी कर ली थी। इसकी जानकारी मिलने पर पुलिस नोएडा पहुंची तो किशोरी को लेकर नई दिल्ली में तस्करों के पास पहुंच गई। वहां से सारे लोग किशोरियों को लेकर बिहार भाग रहे थे लेकिन कानपुर मे उन्हें दबोच लिया गया।

एएसपी ने बताया कि इस मामले में लक्ष्मी देवी, नवल मिश्रा निवासी कच्ची सराय रोड, मुजफ्फरपुर बिहार, वर्तमान पता पुराना पालम रोड नई दिल्ली और सतपाल गुज्जर निवासी मकौड़ा सूरजपुर, गौतमबुद्ध नगर को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि किशोरियों का मेडिकल कराने के बाद उनके परिवार को सौंप दिया जाएगा। एसपी ने पुलिस टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की।