Scindia and Digvijay Singh

सिंधिया मध्यप्रदेश चुनाव के प्रमुख, मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ही चुनेंगे

162
Sarvesh Tyagi

सर्वेश त्यागी

ग्वालियर। मध्यप्रदेश में आ रहे विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का सीन बदलता हुआ नजर आ रहा है। पिछले दिनों दिल्ली में हुई एक मीटिंग के बाद कांग्रेस अब बिना सीएम कैंडिडेट के चुनाव लड़ेगी। माना जा रहा है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया को चुनाव अभियान समिति का अध्यक्ष बनाया जाएगा।

सीएम शिवराज सिंह से सीधा मुकाबला सिंधिया का ही होगा, परंतु कांग्रेसी पंडितों का गणित कहता है कि कांग्रेस जीती तो सरकार दिग्विजय सिंह ही बनाएंगे। सीएम वही होगा जिसे दिग्विजय सिंह चाहेंगे। 

कांग्रेस में गुटबाजी ने अपना रंग दिखा दिया है। पिछले दिनों नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा था कि मप्र में सीएम कैंडिडेट घोषित करने की परंपरा नहीं है। इसके बाद एक कार्यक्रम में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव को सीएम कैंडिडेट बनाने की मांग की गई। यह उस वक्त हुआ जब माना जा रहा था कि अरुण यादव को पद से हटाया जा सकता है। इस मांग के बाद खबर आई कि यादव प्रदेश अध्यक्ष बने रहेंगे। मप्र में कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया सीएम कैंडिडेट के लिए बड़े दावेदार थे, परंतु अब सीन बदलता नजर आ रहा है। 

माना जा रहा है कि मध्यप्रदेश में 2 नए कार्यकारी अध्यक्ष बनाए जाएंगे। इनमें से 1 कमलनाथ की व्यक्तिगत पसंद का नेता होगा।  सूत्रों की माने तो ज्योतिरादित्य सिंधिया को चुनाव अभियान समिति का चेयरमैन बनाया जाएगा और वो ही चुनाव प्रचार की बागडोर संभालेंगे, लेकिन टिकट वितरण में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को सबसे ज्यादा तवज्जो मिलेगी, अंततः यदि कांग्रेस मप्र में जीत गई तो सीएम वहीं होगा जिसे दिग्विजय सिंह चाहेंगे।