BREAKING NEWS
Search
Fire

घरेलू गैस सिलेंडर के फटने से घर जलकर हुआ खाक, एक युवक की दर्दनाक मौत

394
Rambihari pandey

रामबिहारी पांडेय

सीधी। जिले के मझौली थाना के एक करमाई गांव में घरेलू गैस सिलेंडर फटने से घर  खाक हो गया। वहीं एक युवक जलकर मौत के गाल में समा गया है। घटना मंगलवार रात की है, जब पूरा गांव घर नींद के आगोश में सोया हुआ था।

अचानक घर से आग की लपटें उठने लगी, जब तक घर के भीतर सोए लोग और आम लोगों को जानकारी मिलती, तब तक पूरा घर जलकर राख हो गया घर के भीतर सोया युवक भी जल गया।

बताया गया है कि घटना की जानकारी गैस सिलेंडर फटने की आवाज से हुई और जव लोगों की नींद खुली, तब तक आग कच्चे मकान में काफी तेजी से चारों तरफ फैल चुकी थी।

इस स्थिति को देख आनन फानन में डायल 100 मे कॉल किया गया।जिससे मझौली थाने में खड़ी डायल 100 के कर्मचारियों द्वारा नगर परिषद के फायर ब्रिगेड ड्राइवर राजेंद्र सिंह परिहार को फोन कर तत्काल घटनास्थल पर रवाना हो गए और मौके में पहुंचकर धधक रही आग पर काबू पाया गया।

यदि समय रहते फायर ब्रिगेड मौके पर नहीं पहुंची होती, तो कई बैगा परिवारों का मकान जो एक दूसरे से सटे थे। आग की चपेट में आ जाते तथा बड़ी घटना घटित हो सकती थी। लेकिन फायर फायर ब्रिगेड कर्मचारी राजेंद्र सिंह परिहार, आशुतोष गौतम, तोषण प्रसाद मिश्रा ने काफी प्रयास कर आग पर काबू पाने में सफल रहे।

प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम करमाई दमका टोला निवासी बिंद्रेसी बैगा पिता पांडू बैगा के कच्चे बने कमरे में 12 फरवरी की दरमियानी रात लगभग 2 बजे अज्ञात कारणों से आग लग गई। गैस सिलेंडर के फटने की आवाज से लोगों की नींद खुली तो देखा कि बैगा परिवार के एक साथ सटे कच्चे मकानों में आग धधक रही है, तभी 100 नंबर में फोन कर घटना से अवगत कराया गया।

Fire catches

Janmanchnews.com

मझौली थाने में कार्यरत 100 डायल फायर वाहन के साथ तत्काल पहुंचकर आग बुझाई गई, तब तक कमरे के अंदर सो रहे बिंद्रेसी पिता पांडू बैगा पूरी तरह आग में झुलस गया एवं दम तोड़ दिया। जिसकी पत्नी दो पुत्रियों के साथ अपने मायके में रहती थी। दोनों में आपसी मतभेद बताया गया। अपनी वृद्ध मां के साथ मृतक रहता था।

रोजी रोटी के लिए बाहर रहता था, जो कुछ दिन पूर्व ही घर आया था। परिवार वालों की माने तो आग लगने का कारण उज्जवला योजना से प्राप्त गैस सिलेंडर या विद्युत में शॉर्ट सर्किट हो सकता है। वहीं मृतक के चाचा फक्कड़, पिता गौतम बैगा के हिस्से का भी एक कमरा क्षतिग्रस्त हो गया है, जिससे पाली 7 मुर्गी एवं रखा अनाज जलकर खाक हो गया।

फिलहाल, पंचनामा उपरांत सब का पीएम हेतु मरचुरी लाया गया। जहां पीएम के उपरांत दाह संस्कार के लिए शव परिवार वालों को सौंपा गया। थाने में मर्ग कायम कर विवेचना में लिया गया है।