BREAKING NEWS
Search
begusarai Court

पोस्को व बलात्कार के मामले में युवक को कोर्ट ने किया बरी

513
Moinul Haque

मोईनुल हक़ नदवी

बेगूसराय। मंगलवार को व्यवहार न्यायालय ने दफा 376 व पोस्को एक्ट के एक मामले में आरोपी मो.अनीस पेसर मेराज आलम निवासी लड़वारा बेगूसराय को एडीजे एक.के कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए आरोपी को सभी इल्जामत से बरी कर दिया है और सालों से जिला कारागार में बंद निर्दोष आरोपी के रिहाई का आदेश दिया गया।

आपको बताते चलें कि विगत वर्ष 2014 में नसीमा खातून उर्फ रोज़ी खातून, दुखतर शमसेर आलम, निवासी फतहपुर मुफस्सिल थाना सिंघौल ओपी के तहत मुकदमा नम्बर 406/14 दिनांक 12/11/2014 को दर्ज कराया गया था। जिसमे उपरोक्त मो.अनीस पर ये आरोप लगाया गया था कि उसने मुझे शादी का झांसा देकर कई वर्षों तक शारीरिक संबंध बनाता रहा। यहां तक कि मैं प्रैग्नेंट हो गयी और मुझे जबरन हमल गिराने हेतु दबाव बनाता रहा।

यहां तक उसने मुझे हमल गिराने हेतु कुछ दवाई भी लाकर दिया। जिसके लिए मैंने इनकार कर दिया था और मेरे ओर से शादी का दबाव बनाने पर वो भाग गया। उधर दूसरी ओर बचाव पक्ष के अधिवक्ता श्री नसीम अख्तर अंसारी ने बताया कि ये मामला झूठ और बिल्कुल बेबुनियाद था। साजिश के तहत हमारे मो अक्किल मो.अनीस को फंसाया गया था और पोस्को व नाबालिग से बलात्कार जैसे मामले में एक बेगुनाह को फंसाया गया।

एक गरीब मां बाप का सहारा को लगभग पांच वर्षों से जेल बन्द करवाया गया। साथ ही उन्होंने ने कहा कि कोर्ट के आदेश पर डीएनए टेस्ट कराया गया। जिससे दूध का दूध पानी का पानी हुआ और आज माननीय न्यायालय ने आरोपी मो.अनीस को बाइज्जत बरी किया कर दिया है। जेल से रिहाई का आदेश पारित किया।

कोर्ट परिसर में मो.अनीस के परिजनों के साथ साथ गांव समाज के भी काफी लोग मौजूद थे। सभी लोगों ने माननीय न्यायालय के फैसले का स्वागत किया और खुशी का इज़हार करते हुए एक दूसरे का मुंह मीठा भी किया गया।