Jammu kashmir assembly

अनुच्छेद 370 पर बांग्लादेश ने कहा- यह भारत और पाकिस्तान का आपसी मसला है, फ्रांस बोला- पाकिस्तान को शांति बनाए रखना चाहिए

89

प्रीति कुमारी की रिपोर्ट,

नई दिल्ली.जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने बाद भारत को लगभग सभी देशों ने साथ दिया हैं। आज बांग्लादेश ने भी समर्थन दिया भारत के फैसले को ।बांग्लादेश के विदेश मंत्रालय ने बुधवार को कश्मीर को भारत का आपसी मसला और स्थिरता का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि क्षेत्र का विकास सभी देशों की प्राथमिकता होनी चाहिए। वही फ्रांस के तरफ से भी कश्मीर पर भारत का समर्थन किया गया है। फ्रांस के यूरोप और विदेश मामलों के प्रवक्ता ज्यां-वेस ले ड्रायन ने कहा कि कश्मीर पर हमारी नीति स्पष्ट है। यह मामला भारत-पाक को द्विपक्षीय राजनीतिक बातचीत के जरिए सुलझाना है। दरअसल, ज्यां ने पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी से मंगलवार को फोन पर बात की। इसमें ज्यां ने पाक से क्षेत्र में शांति बनाए रखने को कहा है। उन्होंने कहा कि ऐसी कोई भी स्थिति पैदा नहीं होनी चाहिए जिससे दोनों के बीच तनाव बढ़े।
जी-7 समिट में मोदी से कश्मीर मुद्दे पर बात करेंगे फ्रांस के राष्ट्रपति से
फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों कश्मीर मुद्दे पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात करेंगे। फ्रांस के एक राजनायिक ने नाम न उजागर करने की शर्त पर कहा कि मैक्रों जी7 समिट में इस पर मोदी से चर्चा करेंगे। राजनायिक ने कहा कि हम भारत के साथ कूटनीतिक साझेदारी में हैं। इसका मतलब हमें एक दूसरे पर भरोसा रखना चाहिए।