BREAKING NEWS
Search
Narendra modi and imran khan together

Coronavirus को लेकर आज एक मंच पर भारत-पाक, PM मोदी और इमरान के बीच होगी बात !

258

New Delhi: कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में भारत और पाकिस्तान आज एक साथ एक मंच पर दिखेंगे। दक्षिण एशिया में साझा रणनीति बनाने की भारत की मुहिम में पाकिस्तान भी शामिल होने वाला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस संबंध में रविवार शाम सार्क देशों के प्रतिनिधियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये बैठक करेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी ने इसका आह्वान शुक्रवार को ही किया था जिसका पाकिस्तान के अलावा अन्य सभी देशों ने स्वागत किया था। बाद में पाकिस्तान की तरफ से बताया गया कि प्रधानमंत्री इमरान खान के स्वास्थ्य मामलों पर विशेष सचिव जफर मिर्जा भी इसमें शामिल होंगे। पाकिस्तान सरकार ने इस बारे में भारत को जानकारी भी दे दी है।

यह लंबे अरसे बाद सार्क देशों के बीच होने वाली कोई चर्चा होगी। भारत ने संकेत दिया है कि वह कोरोना वायरस से निपटने के लिए अपने पड़ोसी देशों को हरसंभव मदद उपलब्ध कराएगा। प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार को ट्विटर पर लिखा था, ‘दुनिया में कोविड-19 नोवल कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई चल रही है। सरकार व जनता कई स्तरों पर इसके खिलाफ पूरी क्षमता से निपटने में लगे हैं। मैं सार्क देशों के नेताओं को प्रस्ताव करता हूं कि हम कोरोना वायरस के खिलाफ एक मजबूत रणनीति बनाएं। हम वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये अपने नागरिकों को स्वस्थ रखने पर चर्चा कर सकते हैं।’

पीएम मोदी की तरफ से जारी इस बयान के कुछ ही देर बाद श्रीलंका, भूटान, नेपाल, मालदीव, बांग्लादेश और अफगानिस्तान ने इस पहल के लिए प्रधानमंत्री मोदी को धन्यवाद दिया और इसमें शामिल होने की इच्छा जताई। अब पाकिस्तान की हां के बाद सभी सार्क देशों के बीच यह वीडियो कांफ्रेंसिंग रविवार शाम पांच बजे तय की गई है। सूत्रों के मुताबिक, जिन मुद्दों पर रविवार को चर्चा हो सकती है उनमें नागरिकों के आवागमन को लेकर ज्यादा सतर्कता बरतने से लेकर एक दूसरे को मेडिकल या दवाइयों की मदद पहुंचाने या अनुभव को साझा करना शामिल रहेगा।

चूंकि भारत इस क्षेत्र का सबसे ब़़डा देश है और उसने सफलतापूर्वक अभी तक कोरोना वायरस के प्रसार को सीमित रखा है इसलिए प्रधानमंत्री मोदी की तरफ से दूसरे देशों को मदद देने की घोषषणा की जा सकती है। भारत पहले से ही कुछ देशों को मदद दे रहा है। मसलन, चीन के शहर वुहान को भारत की तरफ से 26 फरवरी, 2020 को कोरोना वायरस से ल़़डने के लिए 15 टन मेडिकल सामग्री की आपूर्ति की गई। इस तरह की मदद ईरान को भी जल्द दी जाएगी। भारत जब चीन और जापान से अपने नागरिकों की निकासी कर रहा था तो बांग्लादेश, मालदीव समेत दूसरे देशों के भी कुछ नागरिकों को निकाला गया। भारत ने सभी सार्क देशों से आग्रह किया था कि अगर उनके किसी नागरिक को निकालना हो तो जानकारी दे, भारत उसमें मदद करेगा। कुछ देशों ने आग्रह किया भी था।