Market marketing center

मौदहा, मंडी विपणन केंद्र में धांधली किये जाने की जांच पड़ताल हुई शुरू

80

रिजवान उद्दीन की रिपोर्ट-

हमीरपुर- गेहूं खरीद में मण्डी समिति स्थित विपरण केन्द्र में धांधली किये जाने की के साथ गेहूं खरीद के लिये पैसे मांगने के मामले में शनिवार को उपजिलाधिकारी राजेश कुमार चौरसिया जिला विपरण अधिकारी ब्रजेश कुमार ने जांच पड़ताल शुरू की है.

जिस मामले में शिकायत करने वाली महिला नीलम का पति चन्द्रशेखर जो बीमारी हालत में था, अस्पताल से आकर उसने बयान दर्ज कराया. वहीं अन्य कृषकों से भी बयान लिया गया. इसी के बाद उच्चाधिकारी एग्रो के गेहूं खरीद केन्द्र पर पहुंचे. जहां पल्लेदारों के अधिक पैसे लेने की शिकायते की गई.

विपणन केन्द्र के खरीद प्रभारी पर कई दिनो से गेहूं बेंचने के लिये पडी कृषक महिला व उसके पुत्र ने शिकायत की थी कि उनके 150 कुन्टल गेहूं खरीद के लिये प्रभारी 15000 रुपये मांग रहा है. अपना गेहूं शीघ्र बिक जाये उसके लिये 5000 रुपये दिये गये थे. जिसका वीडियो भी वायरल किया गया था.

Investigation

Janmanchnews.com

खबरे प्रकाशित होने पर आज उपजिलाधिकारी ने विपरण अधिकारी को बुलाकर इसकी सघनता से जांच पडताल शुरू कर दी. इस संबंध में खरीद केन्द्र प्रभारी ने ऊपर तक पैसा पहुंचाने की भी बात की थी. जांच के बाद उपजिलाधिकारी ने बताया कि इस केन्द्र में 95 किसानो के गेहूं की खरीद हो चुकी है और किसी ने भी अभी तक पैसा लेने की शिकायत नहीं की.

आज मौजूद दो कृषकों ने भी अपनी शिकायत मे पैसा लेने की बात नही बताई. हालांकि, चन्द्रशेखर ने पैसा लेने की बात कही है जिसकी जांच गहराई से की जा रही है. उन्होने बताया कि एग्रो खरीद केन्द्र मे किसानो ने शिकायत की है कि यहां के पल्लेदार उनसे तौल में 20 रुपये अधिक का गेहूं लेते और भुगतान मे भी 20 रुपये नकद काटे जाते है. जिस पर उपजिलाधिकारी ने नराजगी जताते हुए चेतावनी दी है कि शासन द्वारा निर्धारित 20 रुपये ही पल्लेदारी के रूप मे लिये जायेंगे और किसी तरह से गेहूं किसानो से नहीं लिया जायेगा.