जानिए Tubal blockage निःसंतानता का कितना बड़ा कारण है - janmanchnews.com जानिए Tubal blockage निःसंतानता का कितना बड़ा कारण है - janmanchnews.com

जानिए Tubal blockage निःसंतानता का कितना बड़ा कारण है

48

लाइफ स्टाइल: फैलोपियन ट्यूब एक ऐसा प्रजनन अंग है, जिसकी गर्भधारण में महत्वपूर्ण भूमिका होती है। फैलोपियन ट्यूब एक ऐसा मार्ग है जहां पर शुक्राणु और अंडा आपस में मिलकर भ्रूण का निर्माण करते है। अब ऐसे में यदि फैलोपियन ट्यूब ही बंद या फिर खराब हो तो गर्भधारण की पूरी प्रक्रिया प्रभावित हो जायेगी।

अब जानते है भारत में कितना प्रतिशत महिलाओं को फैलोपियन ट्यूब की समस्या है ?

अपने देश की बात करें तो यहां पर 10 -14 प्रशिशत महिलाएं केवल बंद फैलोपियन की वजह से माँ नही बन पाती है। कुछ आंकड़े तो चौकाने वाले है, क्योंकि यदि 20 महिलाएं को इनफर्टिलिटी की समस्या है। और हम यहां पर देखें कि इन 20 में से कितनी महिलाएं फैलोपियन ट्यूब की वजह से परेशान है। तो जवाब मिलता है। कि 14 महिलाएं ऐसी है जो फैलोपियन ट्यूब की रुकावट की वजह से माँ नही बन सकती है ।

आंकड़ो के आधार पर यदि फैलोपियन ट्यूब की व्यापकता को ग्राफ को तौर पर देखा जाये तो 19.1 प्रतिशत महिलाएं primary Infertility से प्रभावित है। और 28.7 प्रतिशत ऐसी भी महिलाएं है जो secondary infertility की वजह से माँ नही बन पाती है।

इंडियन सोसाइटी ऑफ असिस्टेड रिप्रोडक्शन के अनुसार, बांझपन वर्तमान में भारतीय आबादी का लगभग 10 से 14 प्रतिशत प्रभावित करता है, शहरी क्षेत्रों में उच्च दर के साथ जहां 6 में से 1 जोड़ा प्रभावित होता है। सक्रिय रूप से गर्भ धारण करने की कोशिश कर रहे लगभग 27.5 मिलियन जोड़े भारत में बांझपन से पीड़ित हैं।

फैलोपियन ट्यूब बंद होने के प्रमुख कारण…

महिलाएं अक्सर इस बात को लेकर बहुत ज्यादा परेशान रहती है, आखिर किस कारण से उनकी फैलोपियन ट्यूब बंद हो गई है। तो ऐसे में उन सभी महिलाओं को परेशान होने की जरुरत नही है । क्योंकि ऐसे बहुत सारे कारण है जो आपकी ट्यूब को बंद कर सकते है।

पीआईडी (PID) – पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज महिलाओं में होने वाली एक ऐसी स्वास्थ्य समस्या है। इस बीमारी के कारण प्रजनन अंग संक्रमित हो जाते है और उनमें सूजन आ जाती है । जिससे ट्यूब बंद हो जाती है।

क्लैमिडिया और गोनोरिया (chlamydia and gonorrhea) – ये दोनों यौन संक्रमित बीमारियां है। जो यौन संबंध के दौरान एक दूसरे में प्रवाहित हो सकती है। इलाज के दौरान अगर यह बीमारियां ठीक हो जाती है फिर भी फैलोपियन ट्यूब के बंद होने की पूरी संभावना होती है।

एंडोमेट्रियोसिस (endometriosis) – फैलोपियन ट्यब को अवरुद्ध करने में एंडोमेट्रियोसिस का बहुत बड़ा योगदान होता है। जब कोई महिला अपनी माहवारी से होकर गुजर रही होती है। उस दौरान उसके गर्भाशय में एक लाइनिंग का निर्माण होता है। जो महिला की प्रत्येक माहवारी के दौरान रिसाव के द्वारा बाहर निकल जाती है। परंतु अधिकांश मामलों में जब गर्भाशय की यह परत पीरियड्स के दौरान झड़ती नही है और यह परत अस्तर के रुप में गर्भाशय के बाहर रुक जाती है । तो फैलोपियन ट्यूब बंद हो जाती है।

शल्यचिकित्सा (Surgery) –

सर्जरी भी फैलोपियन ट्यूब को अवरुद्ध करने में एक बहुत बड़ा रोल प्ले करती है। जब किसी महिला को चोट या फिर अन्य कारणों की वजह से सर्जरी की मदद लेनी पड़ती है। तो इससे भी फैलोपियन ट्यूब बंद हो सकती है।

अपेंडिसाइटिस (appendicitis) –

कई बार क्या है, कि जब हमारे पेट कुछ कारणों की वजह से अपेंडिक्स में सूजन आ जाती है तो इस बीमारी को हम appendicitis कहते है। यह एक बहुत ही गंभीर स्थिति है। कुछ मामलों में जब अपेंडिक्स पेट के अंदर ही फट जाता है तो पूरे पेट में बैक्टिरिया फैलने के कारण abdomen में फैल जाते है। जो काफी घातक स्थिति है और ऐसे में फैलोपियन ट्यूब पूरी तरह से बंद हो जाती है।

हार्मोनल असामान्यताएं (hormonal abnormalities) – जब महिलाओं के हार्मोन असंतुलित हो जाते है। तो ऐसे में फैलोपियन ट्यूब बंद हो जाती है।

यहां पर फैलोपियन ट्यूब के कारणों पर तो खूब चर्चा कर ली । अब आते है मुख्य विषय पर कि आयुर्वेदिक एवं नेचुरल तरीके से कैसे बंद फैलोपियन ट्यूब को खोला जा सकें।

बंद फैलोपियन ट्यूब को खोलने के आयुर्वेदिक उपचार –

किसी भी कारण यदि आपकी फैलोपियन ट्यूब बंद हो गई है तो बिल्कुल भी परेशान होने की जरुरत नही है। क्योंकि आयुर्वेदा में ऐसी हजारों वर्ष पुरानी हर्बल औषधि है जो ट्यूब की रुकावट को खोलने में पूरी मदद करती है।

आयुर्वेदा की प्राचीन पंचकर्मा उत्तर बस्ती पद्धित के द्वारा विशेष औषधियों एवं काढ़ो को प्रयोजन से फैलोपियन ट्यूब की बाधा को दूर किया जाता है। उत्तर बस्ती को आयुर्वेदिक क्लासिक में बहुत वर्णनात्मक रूप से परिभाषित किया गया है। यह पुरुषों और महिलाओं दोनों के जननांग-मूत्र (genital urine) संबंधी ट्यूबल ब्लॉकेज को खोलने में प्रभावी साबित हुई है ।

उत्तर बस्ती महिलाओं की फैलोपियन ट्यूब खोलने के लिए एक वरदान जैसी है –

आयुर्वेद में विशेष रूप से महिला के लिए कई स्थानीय प्रक्रियाओं का वर्णन किया गया है। इनमें मुख्य रूप से योनिधवन (योनि की सफाई), उत्तर बस्ती (औषधीय तेल या तरल पदार्थ डालना), योनि धूप (योनि धूमन), योनि लेपन (योनि पेंटिंग), योनिवर्ती (योनि सपोसिटरी), योनि पुराण (योनि पैकिंग), योनि परीषक शामिल हैं। (योनि धोना), पिंडा चिकित्सा। उत्तरबस्ती उनमें से एक है। इसका उल्लेख पुरुषों और महिलाओं दोनों के जननांग-मूत्र विकार के लिए किया गया है। यह सीधे स्थानीय रूप से काम करता है।

यह खास जानकारी Ayurveda Super Specialty Hospital की Infertility expert Dr. Chanchal Sharma से खास बातचीत के दौरान प्राप्त हुई है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *