BREAKING NEWS
Search
Sankalp Milk founder dhananjay

किसान के संकल्प से बहेगी अब दूध की धारा!

718

प्रेरणा: गांव में बनाया गया करोड़ों का डेयरी प्लांट…

प्रियेश शुक्ला,

गोरखपुर। जहां किसान खेती छोड़ रहे हैं। आत्महत्या करने पर मजबूर हो रहे हैं। और नयी पीढी खेती से दूर जा चुका है। ऐसे मे देश के दूसरे कोने में एक युवा किसान उम्मीद की रोशनी बन के टीम-टीमा रहा है। और लाखों युवाओं के लिये प्रेरणा स्रोत बन गया है।

हम बात कर रहे हैं उ.प्र . के देवारिया जनपद में रुद्रपुर तहसील निवासी धनंजय त्रिपाठी की। धनंजय एक युवा किसान है जो पहले दिल्ली में केमिकल्स कंपनी में वर्कर थें। लेकिन धनंजय ने अब गांव का रुख किया है। और गांव व किसानों के हालात को बदलना चाहते हैं।

मिडिया में आ रही किसानों की तमाम घटनाओं को देखने सुनने के बाद धनंजय ने संकल्प किया की हमें गांव और किसान दोनों को बचाना होगा। इस के लिये खुद पहल करते हुए धनंजय ने अपने गांव सिहोर चक में ही नारायण पुर मार्ग पर “संकल्प  मिल्क प्रा .लि.” नाम से एक डेयरी कंपनी की यूनिट शुरू कर दी।

ग्रेजुएट धनंजय ने 5 करोड़ लागत के साथ संकल्प मिल्क की शुरुआत कर दी। और आज आलम ये है की धनंजय की पहचान पूरे पुर्वांचल में दुग्ध व्यवसायी के रुप में शुमार हो चुका है।

धनंजय 100 गायों और आस-पास के किसानों के सहयोग से 10000 लीटर दुग्ध पैदा कर रहे हैं। जबकी इनका लक्ष्य 1000 गायों के साथ 50000 लीटर उत्पादन का है।

25 कामगारों के सहयोग से धनंजय दूध, दही, मक्खन, छाछ के साथ कई उत्पाद बाजार में भेजते हैं। आज डेयरी के क्षेत्र में धनंजय और संकल्प मिल्क की अपनी अलग पहचान बन चुकी है। दुर-दुर से लोग युनिट देखने आते हैं। और तकनिकी जानकारी प्राप्त करते है।

अब क्षेत्र मे डेयरी के प्रति जागरुकता बढ़ रही है। और लोग इस व्यवसाय को अपनाने लगे हैं। धनंजय ने यह व्यवसाय बिना किसी सरकारी सहयोग से ही शुरू किया था। और अपने संकल्प के दम पर बड़ा मुकाम हासिल कर लिया है। आज क्षेत्र मे धनंजय के पास सम्मान और शोहरत दोनों है।