longest double decker

देश का सबसे लंबा डबल डेकर निर्माण में जमीन अधिग्रहण की अड़चन, निर्माण कार्य बाधित

83

Patna: बिहार के छपरा जिले में देश का सबसे लंबा डबल डेकर का निर्माण हो रहा है। 2022 तक बनाने की टारगेट है लेकिन इसमें जमीन अधिग्रहण बड़ा रोड़ा है। इसी वजह से निर्माण कार्य प्रभावित हो गया है। डबल डेकर के निर्माण में करीब 48 डिसीमिल जमीन अधिग्रहण करनी है। इस बीच समस्या यह है कि भिखारी चौक से मौना होते नगरपालिका चौक तक अधिकांश जमीन लोपोलैंड है। इसका सर्वे नहीं हुआ है। यानि वह जमीन सरकार की ही मानी जाएगी।

ऐसे जमीन पर किसी ने दुकान बना ली तो किसी ने मकान। करीब 100 साल से लोग अपना कब्जा जमाये है। ऐसे में भू-अर्जन नहीं किया जा सकता है। लेकिन लोग जिद्द पर अड़े है। हालांकि भू-अर्जन विभाग के अधिकारी की मानें तो भू-अर्जन करने के लिए जमीन की पैमाइस कर अभी अधिसूचना नहीं मिली है। ऐसे में विभाग क्या कर सकता है। इस पेंच में डबल डेकर का निर्माण प्रभावित हो सकता है।

इसको लेकर सारण प्रमंडल के आयुक्त आरएल चोग्थू ने तकनीकी अधिकारियों के साथ बैठक की है। जिसमें निर्माण में भू-अर्जन की समस्या पुल निर्माण निगम के प्रोजेक्ट अभियंता के द्वारा बताया गया कि छपरा शहर में निर्माणाधीन डबल डेकर 2022 तक पूर्ण कराने का लक्ष्य निर्धारित है। लेकिन गांधी चौक से नगरपालिका चौक तक भू-अर्जन की समस्या है। जिसके बारे में प्रस्ताव विभाग को दिया गया हैं।

सबसे लंबा डबल डेकर फ्लाईओवर
छपरा में उत्तर भारत का सबसे पहला डबल डेकर फ्लाईओवर बनाया जा रहा हैं। यह पूरे भारत का सबसे बड़ा डबल डेकर फ्लाईओवर होगा, जिसकी लम्बाई करीब 3.5 किमी होगी। इसका निर्माण अगले 3 वर्षों (2022 तक) के अंदर पूरा कर लेने का लक्ष्य है। सबसे लंबे डबल डेकर फ्लाईओवर के निर्माण में करीब 411 करोड़ रुपये खर्च होंगे। इस डबल डेकर फ्लाईओवर की लम्बाई करीब 3.5 किलोमीटर और चौड़ाई 5.5 मीटर होगा। बता दें कि देश में अब तक का सबसे लंबा डबल डेकर फ्लाईओवर मुंबई में है जिसकी लम्बाई 1.8 किमी है।

डबल डेकर फ्लाईओवर का एलायनमेंट
बिहार राज्य पुल निर्माण निगम से मिली जानकारी के अनुसार डबल डेकर फ्लाईओवर छपरा के भिखारी ठाकुर चौक से 400 मीटर पहले, एवीएस स्कूल के पास से शुरू होगा। यह गांधी चौक और नगरपालिका चौक से आगे बढ़ते हुए बस स्टैंड तक जा सकेगा। इस पुल का इस्तेमाल पटना से छपरा होते हुए सीवान जाने और सीवान से पटना आने के लिए भी किया जा सकेगा।

जाम से हमेशा के लिए मिलेगी मुक्ति
छपरा शहर के लिए सबसे बड़ी समस्या है जाम। इसके कई कारण हैं। डबल डेकर बन जाने के बाद जाम की समस्या से हमेशा के लिए मुक्ति मिल जाएगी। मुख्य बाजार होने की वजह से अक्सर यहां जाम की स्थिति रहती है। सड़क चौड़ा करना संभव नहीं है। फ्लाईओवर से जाम से मुक्ति मिलेगी।