लंका में कामधेनु अपार्टमेंट के सामनें बनी 38 दुकानों को वीडीए का नोटिस

219

10 अक्टूबर तक दुकानों को करे खाली, उसके बाद वीडीए करेगा ध्वस्तीकरण की कार्यावाई…

 

वाराणसी: सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के बाद लंका चौराहा स्थित कामधेनु अपार्टमेंट के सामने बनी दुकानों को तोड़ने के लिए विकास प्राधिकरण ने बिल्डर को 10 अक्टूबर तक की मोहलत दी है। वीडीए ने सोमवार को 38 दुकानदारों को नोटिस थमाने के साथ खाली करने को कहा है जिससे बिल्डर ध्वस्तीकरण की कार्रवाई करें। यदि बिल्डर 10 अक्टूबर तक दुकानों को नहीं गिराता है तो वीडीए उसे गिराने के साथ आने वाला खर्च भी वसूलेगा।

कामधेनु अपार्टमेंट के सामने कई दुकानें बनी हैं। अपार्टमेंट में रहने वाले लोगों ने सोसायटी बनाते हुए नाराजगी जाहिर की थी। उन्होंने बिल्डर से अपार्टमेंट के सामने बनी दुकानों को हटाने को कहा तो उसने इन्कार कर दिया। इससे नाराज सोसायटी के लोग कोर्ट चले गए। मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर वीडीए उपाध्यक्ष ने एसडीएम अविनाश कुमार और जोनल अधिकारी राजकुमार के नेतृत्व में टीम भेजकर दुकानदारों को दुकान खाली कराने का नोटिस थमाया। साथ में दुकान के सामने नोटिस चस्पा की जिससे कोई दुकानदार यह नहीं कह सके कि हमें जानकारी नहीं है। नोटिस मिलते ही दुकानदार हैरान हो गए, वे काफी दिनों से रहने और बिल्डर द्वारा लेने का हवाला देने लगे लेकिन वीडीए टीम अवैध निर्माण होने का हवाला देते हुए नोटिस थमाती रही।

कामधेनु अपार्टमेंट बनाने वाले बिल्डर को 10 अक्टूबर तक दुकानों का ध्वस्तीकरण करने की मोहलत दी गई है। दुकानदारों को बताया गया है कि दुकान खाली कर दें, बिल्डर 10 अक्टूबर तक दुकानों को गिराएगा। यदि बिल्डर दुकानों का ध्वस्तीकरण नहीं करता है तो उसे वीडीए गिराएगा।