BREAKING NEWS
Search
pregnant-woman

प्रेग्नेंसी में वजन बढ़ने के ये हैं 4 बड़े कारण

344

खुशबू,

लाइफ डेस्क। मोटे दिखना किसी को पसंद नहीं, ऐसे में हर उम्र के लोग खुद को फिट रखने क लिए पूरी जद्दोजहद करने में लगे हैं. खुद को फिट रखने क लिए लोग एक्सरसाइज, प्राणायाम, सही तरह के खान-पान पर विशेष तौर से ध्यान दे रहे हैं. खासकर अगर हम महिलाओं की बात करे तो वे अपने हेल्थ को ले कर बहुत जायदा कॉन्ससियस रहती हैं. लकिन वही प्रेगनेंट लेडी की बात करें तो उनके मोटे होने का कारण हैं.

आपको ये जानकर बेहद हैरानी होगी कि गर्भावस्था के वक्त महिलाओं के वजन सिर्फ खानपान से ही नहीं बढ़ते हैं, बल्कि अनजाने में महिलाएं कुछ ऐसी गलतियां कर बैठती हैं जो वजन बढ़ने के लिए पूरी तरह से जिम्मेदार हैं.

1 .नींद की कमी…

ऐसी कई महिलाएं हैं, जिनको रात के वक्त बुक्स पढ़ने या फिल्में देखने का शौक होता है. जिसके चलते नींद पूरी तरह से डिस्टर्ब होती है. नींद की कमी के चलते भी प्रेग्नेंसी में महिलाओं का वजन बढ़ता है. जबकि प्रेगनेंसी में प्रयाप्त नींद लेना बहुत जरुरी है. वहीं डॉक्टर्स की मानें तो उनका कहना है, गर्भावस्था के दौरान होने वाले शारीरिक और हार्मोनल बदलावों की वजह से महिलाओं को अधिक से अधिक आराम की जरुरत पडती है. इसलिए गर्भावस्था में नींद के साथ किसी तरह की लापरवाही ना बरतें.

2 . तनाव है मोटापे का कारण…

प्रेग्नेंसी में तनाव लेना महिलाओं के लिए बहुत बड़ा दुश्मन साबित होता है. महिलाओं को किसी बात की चिंता नहीं करनी चाहिए. वहीं ऐसी बहुत सी महिलाएं हैं जो प्रेग्नेंसी के दौरान भी वर्किंग होती हैं. जिस कारण उन्हें बहुत जायदा तनाव झेलना पड़ता है, जो की माँ और बच्चे दोनों के लिए खतरनाक साबित हो सकता हैं. डॉक्टर्स का कहना है की ऐसी अवस्था में महिलाओं को पूरी तरह फ्री माइंड और खुश रहने की जरूरत होती हैं. प्रेग्‍नेंसी में जितना हो सके उतना तनाव से दूर रहना चाहिए.

pregnant woman

Janmanchnews.com

3 . डायबिटीज और हाइपरटेंशन…

बीमारी किसी को बता कर नहीं आती हैं ये बात बिलकुल सच हैं. लकिन ये भी सच हैं की आजकल के भाग-दौड़ के जिंदिगी में हम अपना ख्याल बिलकुल नहीं रख पाते हैं. यहीं कारण हैं की हम काम उम्र में ही दवाओं के आदि हो रहे हैं. बिगड़े खानपान और अस्त-व्यस्त लाइफस्टाइल के चलते आजकल कई महिलाओं में डायबिटीज और हाइपरटेंशन की बीमारी देखी जा रही है. कई महिलाओं को जेस्टेशनल डायबिटीज और हाइपरटेंशन भी होती है. यह शिशु पर तो प्रभाव डाल ही सकता है साथ ही ये मोटापा बढ़ने के भी कारण हैं. वहीं कुछ मात्रा में इस मोटापे का असर शिशु पर भी पड़ता है.

Read also this article:

कैसे रखें गर्मियों में सेहत को तंदरुस्त, जानें कुछ खास नुस्ख़ें…

महिलाओं और पुरूषों को आकर्षित करते हैं ऐसे लोग, क्या आप भी ऐसे हैं?

4. अधिक कैलोरी लेना

प्रेग्नेंसी में महिलाओं को अधिक कैलोरी वाले व्यंजन खिलाए जाते हैं. इसके साथ ही कई महिलाओं को प्रेग्नेंसी के दौरान भूख भी अधिक लगती है. जिसकी वजह से शुरुआती दौर में वजन तेजी से बढ़ जाता है. अगर आप रोजाना 450 अतिरिक्त कैलोरी लेती हैं, तो हफ्तेभर में आपका वजन आधा किलो तक बढ़ सकता है, जो महीनेभर में 2 किलोग्राम तक बढ़ा सकता है. डॉक्टर्स का कहना हैं प्रेगनेंसी के दौरान रोजाना 300 कैलोरी एक्स्ट्रा लेने की जरूरत होती हैं. जिससे माँ और बच्चे दोनों को भरपूर आहार मिलेगा.