BREAKING NEWS
Search
Shivraj chauhan

गरीब को नि:शुल्क बिजली कनेक्शन देंगे: शिवराज

473
Share this news...
Jalaj Tripathi

जलज त्रिपाठी

भोपाल। प्रदेश में कर्ज से परेशान किसानों की मौत से सरकार अब सबक ले रही है। किसानों के आक्रोश को कम करने के लिए सरकार अपना उनके प्रति झुकाव ज्यादा बनाए हुए है। चुनावी दौर को देखते हुए घोषणाएं भी किसानों के हित में की जा रही है। आज फिर सीएम ने किसानों के हित में एक बड़ी घोषणा की है।

सीएम ने कहा है कि डिफाल्टर किसानों को सरकार 200 रुपये में पूरे महीने बिजली उपलब्ध करवाएगी।प्रदेश में गरीबों के लिये 200 रूपये प्रतिमाह बिजली का बिल देने की योजना लागू की जायेगी। प्रदेश में हर घर को बिजली मिलेगी इससे बिजली बिल कम-अधिक आने की समस्या समाप्त हो जायेगी। किसानों के साथ सरकार पहले भी खड़ी थी और आज भी खड़ी हुई है।

यह बाते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंडीदीप में आयोजित अंत्योदय मेला, स्वरोजगार और हितग्राही सम्मलेन के दौरान कहीं। इस अवसर पर उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री स्व. सुन्दरलाल पटवा को भी श्रद्धांजलि अर्पित की।

बता दें कि बीते दिनों ही आम आदमी पार्टी के संयोजक आलोक अग्रवाल ने सरकार पर बिजली को लेकर कई आरोप लगाए थे। साथ ही कहा था कि प्रदेश में अन्य राज्यों की तुलना में बिजली सबसे ज्यादा महंगी है। बिजली को लेकर सरकार नई-नई योजनाएं लाकर हमेशा प्रदेश की जनता को धोखा देती आई है।दिल्ली में लोग मप्र की तुलना में कम बिजली का बिल भरते है। इन आरोपों के बाद सीएम की ये घोषणा कहीं ना कहीं विपक्ष को सरकार की तरफ से करारा जवाब है।

साथ ही सीएम कहा कि सरकार कर्जदार किसानों के लिए एक समाधान योजना ला रही है, जिसमें वे जीरो प्रतिशत योजना का लाभ लेने के पात्र बन सकेंगे। मध्यप्रदेश में कोई भी घर बिना बिजली के नहीं रहेगा। हर गरीब को मुफ्त बिजली का कनेक्शन दिया जायेगा। सम्मेलन में शिवराज ने 816.93 करोड के विकास कार्यों का लोकार्पण एवं भूमि पूजन किया। सीएम और कई केन्द्रीय मंत्रियों के आगमन पर सुरक्षा व्यवस्था की दृष्टि से लगभग 400 पुलिसकर्मी तैनात किए गए थें।

गौरतलब है कि बुधवार को सीएम ने रीवा जिले के नईगढ़ी में आयोजित अंत्योदय मेले में मंच से घोषणा करते हुए कहा था कि अब बिजली का बिल आपको करंट नहीं मार सकेगा। मीटर नहीं लगाया जायेगा, बल्कि अब 200 रुपये दो और महीने भर बिजली जलाओ। सीएम ने कहा था कि यह मीटर का चक्कर बहुत ख़राब होता है, कई बार बिल ज्यादा आ जाता है।

इस पर हम गंभीरता से विचार कर रहे हैं। बहुत जल्दी ही बड़ा फैसला करने वाले हैं, कि एक निश्चित राशि गरीबों से ले लो और मीटर का चक्कर छोड़ दो, 200 रुपए गरीबों से लेलो और महीने पर बिजली जलाने दो। जितने हॉर्सपावर की मोटर उतने केवल उतने ही बिल लिए जाएंगें।

Share this news...